छतरपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर छतरपुर संदीप जीआर की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभाकक्ष में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें तालाबों का सीमांकन करके तालाब के रकबे में मिले अतिक्रमण को तुरंत हटाने के निर्देश दिए गए।

कलेक्टर ने तालाबों की सीमांकन के बारे में जानकारी लेते हुए कहा कि जिन तालाबों के सीमांकन हो चुके हैं, उन तालाबों में को अतिक्रमण मुक्त करें। इसके साथ अतिक्रमण मुक्त क्षेत्र में खंभे लगाएं, पोल फेंसिंग करें ताकि दोबारा अतिक्रमण न हो। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी तालाबों का भ्रमण करते रहें, सभी जलस्त्रोंतों की बारिश के पूर्व सफाई अभियान के रूप में करें। उन्होंने कहा जो टेंडर व वर्क आर्डर निकलने हैं उनको निकालें। शासकीय जमीन को सूचीबद्ध करें, जो चिन्हित है उन्हें अतिक्रमण मुक्त कराएं। उन्होंने कहा कि जो शांति भंग करेगा उस पर कार्रवाई करते हुए जेल भेजा जाए और बंदूक का लाइसेंस होने पर उसे रद किया जाए। कलेक्टर ने नल जल की समीक्षा करते हुए सभी एसडीएम को निर्देर्शित किया कि ब्लाक स्तर पर बैठक लें, फीडबैक दें। बैठक में जिला पंचायत सीईओ एबी सिंह, एडीएम पीएस चौहान, एसडीएम, विभागीय अधिकारी व डीएसपी शशांक जैन उपस्थित रहे। इस दौरान राजस्व, सीएम हेल्पलाइन, महिला बाल विकास, स्वास्थ्य, सिंचाई, पीएचई, पीआईयू विभाग, एमपीईबी, खाद्य सहित जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा की गई।

कलेक्टर ने रिकार्ड शुद्धिकरण अभिलेख सुधार के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए सभी एसडीएम को निर्देशित करते हुए कहा कि जो प्रकरण शेष रह गए है उन्हें जल्द निपटाएं और गांव में डुन्डी पिटवाएं एवं पटवारियों को भी शेष रह लोगों के प्रकरणों को संधारित करने को कहे। उन्होंने कहा कि इसका रिव्यू लेते रहें।

गौ-शालाओं में गायों को स्थान दें

कलेक्टर ने सीईओ एवं सीएमओ को निर्देशित करते हुए कहा कि आवारों पशुओं को गौशालाओं में स्थान देने का कार्य शुरू करें। जो व्यक्ति दूध निकालने के बाद गायों को छोड़ें, उन पर कार्रवाई करें। उन्होंने सीएमओ छतरपुर को निर्देशित किया कि शहर में तीन मुख्य मार्गों को जीरो केटेल बनाएं, जिससे पशुओं के कारण होने वाली दुर्घटनाओं से निजात मिल सके। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को सुरक्षा की दृष्टि से निर्देश दिए कि सभी शासकीय दफ्दरों मे बाहर दिखने वाले तारों को अंडरग्राउंड करवाएं, अनावश्यक कोई भी तार बाहर न निकला रहे।

कलेक्टर ने पुलिस विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि जिला अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड को बेहतर तरीके से ट्रेंड करें, चौकी में पुलिस स्टाफ को भी बढ़ाएं। अगर कोई भी व्यक्ति अस्पताल या परिसर में अव्यवस्था फैलाने की कोशिश करें तो तुरंत कार्रवाई करके एफआइआर दर्ज कराएं। कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा करते हुए कहा कि शिकायतों का एल 1 पर ही संतुष्टिपूर्णक निराकरण करें, आगे ना बढ़ने दें। यदि कोई अधिकारी शिकायतों को नाट अटेंड करेगा तो उनकी वेतन काटे।

आंगनबाड़ियों में बच्चों का हेल्थ चेकअप करें

महिला-बाल विकास की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि आंगनबाड़ी समय से खुलें, अधिक से अधिक बच्चों की उपस्थिति रहे। सभी सीडीपीओ आंगनबाड़ियों का लगातार निरीक्षण करें। आंगनबाड़ी गोद लेने के संबंध में जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों, गणमान्य नागरिकों, एनजीओ को जोड़ें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि प्रत्येक आंगनबाड़ियों में बच्चों का डाक्टर हेल्थ चेकअप करके स्वास्थ्य के संबंध में परामर्श दें। कहीं कोई भी बच्चा लावारिस या भीख मांगते हुए मिले तो तत्काल उनके आश्रय और खाने-पीने की व्यवस्था करें। कलेक्टर ने आम निर्वाचन के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए कि चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कलेक्टर ने राशन भंडारण समीक्षा करते हुए कहा कि राशन दुकानों पर तीन माह का भंडारण रहे। इसमें आवंटन, ट्रासपोर्ट कारण न बनें। जहा स्टाक की जगह नहीं है वहां नई जगह बनाएं। इसमें लापरवाही बरतने पर वेतन काटने की कार्रवाई की जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close