चंदला। छतरपुर जिले के ग्राम पंचायत छठीबम्होरी में नाली निर्माण न होने की वजह से आम रास्ता कीचड़ में तब्दील हो गया, जिससे ग्रामवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। लोगों का कहना है के केंद्र सरकार और प्रदेश सरकारी स्वच्छता अभियान के लिए लाखों करोड़ों रुपए ग्राम पंचायतों में खर्च कर रहे हैं, ताकि हर पंचायत को स्वच्छ बनाया जा सके। लेकिन बुंदेलखंड के पिछड़े कहे जाने वाले छतरपुर जिले के ग्राम पंचायत छठीबम्होरी में लोगों को इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है।

गांव के वार्ड नंबर 12 में रहने वाले जागे प्रजापति ने बताया कि यह पूरी अजाक बस्ती है। इसी वजह से यहां पर पंचायत की तरफ से कभी सफाई नहीं करवाई जाती ओर न ही किसी योजना का लाभ दिया जाता है। जागे प्रजापति ने बताया हमारी तरफ कभी इनका ध्यान आकर्षित नहीं होता है। सिर्फ आकर्षित होता है तो चुनाव के समय चुनावी दौरे पर बड़े-बड़े वादे करने प्रत्याशी यहां आते हैं। चुनाव होते ही जीत के बाद फिर यहां कोई देखने नहीं आता कि लोग किस तरह का जीवन जी रहे हैं। वार्ड नंबर 12 के कल्लू प्रजापति के मकान के पास मुख्य सड़क पर कीचड़ भरा हुआ है। लोगों ने बताया कि कीचड़भरे रास्ते के पास पार्वती प्रजापति, रितु प्रजापति, रामकिशोर प्रजापति, कल्लू प्रजापति, हीरा प्रजापति के मकान हैं, जिनके बच्चे आए दिन गंदगी की वजह से बीमार बने रहते हैं। रहवासियों का कहना है गंदगी की वजह से इतने कीड़े मकोड़े भी हो गए हैं। इससे यहां लोग बीमार हो रहे हैं।

शिकायत करने पर नहीं होती सुनवाईः

ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत स्तर से लेकर जनपद पंचायत स्तर तक कई बार शिकायत की गई, लेकिन जिम्मेदार लोग शिकायत पर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। यही वजह है कि लोगों को गंदगी के बीच जीवन यापन करना पड़ रहा है। गांव के रहवासियों ने कलेक्टर संदीप जीआर से मांग की है कि गांव की दशा सुधारने के लिए गंदगी से मुक्ति दिलाने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close