छतरपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छतरपुर से कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी के निज सहायक आशुतोष रावत का 13 वर्षीय बेटा अर्जुन स्कूल से भोपाल पहुंचा। मंगलवार को छात्र घर से स्कूल बस से स्कूल पहुंचा था। स्कूल से किसी तरह से सिक्युरिटी से बचकर छात्र बाहर निकल गया और भोपाल पहुंचा। इधर जब स्कूल के बाद छात्र घर नहीं पहुंचा तो खोजबीन शुरू हुई थी। नौगांव थाना पुलिस ने पड़ताल शुरू की। इंटरनेट मीडिया पर अर्जुन के लापता होने की सूचना प्रसारित की गई। इसी सूचना को पढ़कर भोपाल में आइएसबीटी बस स्टैंड पर एक चाय वाले ने उसे पहचान लिया। चाय वाले ने अर्जुन को अपने पास रोककर पुलिस को सूचना दी। छतरपुर पुलिस उसे लेने भोपाल रवाना हुई है।

यह है पूरा घटनाक्रमः

विधायक के निज सहायक आशुतोष रावत का बेटा अर्जुन रावत और बेटी मंगलवार सुबह स्कूल में परीक्षा देने के लिए गए थे। दोपहर में स्कूल से अकेली बेटी वापस आई। अर्जुन घर नहीं पहुंचा तो उसकी खोजबीन शुरू की गई। पुलिस ने स्कूल और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। अर्जुन स्कूल क मेन गेट से बाहर निकलता नहीं दिखा। इसके बाद छतरपुर शहर से नौगांव तक पुलिस ने अपनी टीमों को पड़ताल में लगा दिया। इंटरनेट मीडिया पर भी अर्जुन के लापता होने की सूचना प्रसारित कराई गई। इसी सूचना को देखकर मंगलवार रात बजे भोपाल में आइएसबीटी बस स्टैंड पर चाय वाले ने अर्जुन का पहचान लिया। उसने अर्जुन का बैठाकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस से सूचना मिलने के बाद स्वजन ने इंटरनेट मीडिया के जरिये ही तस्दीक की तो पाया कि अर्जुन किसी तरह से छतरपुर से भोपाल पहुंचा है। छतरपुर पुलिस की टीम और स्वजन अर्जुन को लेने भोपाल रवाना हुए हैं। उसके वापस आने के बाद मालूम चलेगा कि वह स्कूल से भोपाल कैसे और क्यों पहुंचा है। फिलहाल अर्जुन के सकुशल मिलने से स्वजन और पड़ताल कर रहे पुलिस अधिकारियों ने राहत की सांस ली है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close