छतरपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर आडीटोरियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व राज्यमंत्री व भाजपा की प्रदेश मंत्री ललिता यादव ने कहा कि बेटियां ओस की बूंद होती हैं, बेटियों से कुल का सम्मान होता है, बेटियां दो कुलों की लाज रखती हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में विभिन्ना योजनाएं शुरू होने से अब बेटियां माता-पिता पर बोझ नहीं हैं। बस जरूरी है कि नारी शक्ति की सुरक्षा-सम्मान के लिए समाज की सोच को बदला जाए। इसके पूर्व कार्यक्रम कन्या पूजन व सरस्वती वंदना के साथ कार्यक्रम शुरू किया गया। विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कहा कि चिंता जाहिर करते हुए कहा कि समाज में बेटा और बेटियों का भेदभाव आज भी बना है। बच्चियों को सुरक्षा के संबंध में कानून का ज्ञान होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि नारीशक्ति विशेषकर बेटियों को सुरक्षा के संबंध में दक्ष बनाने के लिए उन्हें प्रशिक्षित करना चाहिए। इसके लिए शौर्य दल की भूमिका महत्वपूर्ण है। विधायक राजेश प्रजापति ने कहा कि बेटी हर घर का आंगन रोशन करने वाली शक्ति है। माता-पिता का फर्ज है कि बेटियों का पढ़ने का अवसर दें, वे जिस क्षेत्र जाने की इच्छुक हैं उसके लिए सहयोग करें। पूर्व नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री ने नारी शक्ति के लिए अनेक योजनाएं देकर महिला शक्ति को ऊपर उठाया है, वे बधाई के पात्र हैं। कार्यक्रम में बेटियों के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए शपथ ली गई, सेफसिटी कार्यक्रम का पोस्टर विमोचित किया गया। कार्यक्रम के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान के ऍनलाइन संबोधन का लाइव प्रसारण भी किया गया।

बेटियां निडर होकर आगे बढ़े पुलिस उनके साथ हैः

पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने नारी शक्तियों का आव्हान करते हुए कहा कि छेड़छाड़ की घटना की जानकारी के लिए सखी नंबर की सुविधा मुहैया कराई गई है। इसके लिए घटना होने पर मोबाइल नंबर 9926647708 पर जानकारी दी जाए। शिकायतकर्ता की जानकारी गुप्त रहेगी। पुलिस द्वारा तत्परता से कड़ी कार्यवाही शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि बेटियां निडर होकर आगे बढ़े पुलिस हर कदम पर उनके साथ है। एसडीएम छतरपुर प्रियांशी भंवर ने बेटी होने के विचार एवं अनुभव साझा करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम उनके हृदय के करीब है। इस अवसर पर उन्होंने तेजस्विनी अभियान की जानकारी साझा की। कार्यक्रम के दौरान जिला मुख्यालय पर कक्षा 10वीं व 12वीं में प्रदेश में अव्वल रहीं बच्चियों को प्रशस्ति पत्र और शील्ड देकर सम्मानित किया गया। इसी तरह किशोरी बालिका, स्वच्छता अभियान, राज्य स्तरीय मलखम प्रतियोगिता, महिला सशक्तिकरण, पूर्णा अभियान में श्रेष्ठ कार्य करने वाली महिलाओं और बेटियों का भी सम्मान किया गया।

खास रही प्रदर्शनी, सभी ने सराहाः

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर छेड़खानी के विरूद्ध चुप्पी तोड़े, अब तो बोलो, मैं प्रतिबद्ध हूं सम्मान के प्रति चुप्पी तोड़ो, चाइल्ड लाइन, बच्चे परेशान हो तो डायल करें आदि विषयों से संबंधित प्रदर्शनी लगाई गई, जिसे देखकर सभी ने खूब सराहा। कुपोषण से बचाव के पांच सूत्र, पंचरंगी थाली, कुपोषण से बचाव में मौसमी सब्जियों, दाल एवं फल कैसे कारगर होती हैं इस विषय पर भी प्रदर्शनी खास रही। इस अवसर पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ में हरसंभव मदद का संकल्प लेकर के हस्ताक्षर अभियान में सभी ने हिस्सा लिया। मंतीसा मिर्जा ने महिला सम्मान में प्रस्तुत गीतों को खूब सराहा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags