छतरपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। छतरपुर जिले की सुंदरता सिर्फ खजुराहो तक सीमित नहीं, बल्कि यहां की कई ऐसी जगह हैं जिनकी सुंदरता मंत्रमुग्ध कर देती है। गंगऊ, कुटनी जैसे बांधों के आसपास सूर्योदय और सूर्यास्त के अद्भुत नजारे हैं, जिन्हें कैमरे में कैद करना संभव नहीं है। इन्हें देखने के लिए हमें कलाकारों की नजर चाहिए। यह बात एसपी सचिन शर्मा ने गुरुवार को जेपी सिनेमा में आयोजित म्यूजिक वीडियो चले थे जहां से के विमोचन समारोह में व्यक्त किए हैं।

एसपी शर्मा ने कहा कि छतरपुर जिले की सुंदरता को कैमरे में कैद करके संगीत के साथ सामंजस्य बैठाने का अदभुत काम गायक राहुल त्रिपाठी और सिनेमेटोग्राफर ऋषिदेव सिंह की टीम ने कर दिखाया है। उन्होंने कहा कि इस गीत का लेखन, संगीत, आवाज और फिल्मांकन छतरपुर की प्रतिभाओं और यहां के स्थलों की सुंदरता को दूर-दूर तक पहुंचाने में कामयाब होगा। विशिष्ट अतिथि आकाशवाणी के पूर्व निदेशक सुरेन्द्र तिवारी ने कहा कि बुन्देली संस्कृति बहुत संपन्ना है। कलाकार यदि इस संस्कृति के साहित्य और सृजन को अपने माध्यमों से प्रचारित करें तो यह दुनिया में लोकप्रिय होने की ताकत रखती है। उन्होंने कहा बुुंदेली लोक संगीत में ऐसे रूपकों का इस्तेमाल किया गया है जिनका आज तक किसी दूसरी संस्कृति में उपयोग नहीं किया जा सका है। विशिष्ट अतिथि लोकगीता गायिका उर्मिला पाण्डेय ने संक्षिप्त विचार रखे। संगीत निर्देशक और गायक राहुल त्रिपाठी ने बताया कि वे एमबीबीएस कर रहे थे और फाइनल इयर में उन्हें एहसास हुआ कि उनका जुनून संगीत है। उन्होंने अपने जूनून को साधते हुए संगीत रचने की शुरूआत की थी। पिछले लगभग 7 वर्षों से वे लगातार मुंबई और छतरपुर के नौगांव में रहकर अनेक गीत रच चुके हैं। यह पहला गीत है जिसे उन्होंने म्यूजिक वीडियो के रूप में अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की है। सिनेमेटोग्राफर ऋषिदेव सिंह ने कहा कि उन्हें छतरपुर और बुन्देलखण्ड से बहुत प्यार है, हमारा प्रयास है कि जिले की खूबसूरती को कैमरे के माध्यम से दूर-दूर तक पहुंचाया जाए। अतिथियों का स्वागत कलाकार दिनेश शर्मा, आदर्श परमार, मनोरथ सिंह, वीडियो एडीटर वैभवश्री, रूपेश असाटी ने किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local