बमीठा (नईदुनिया न्यूज)। झांसी-खजुराहो फोरलेन नेशनल हाइवे का निर्माण कराने के लिए लोगों की जमीन तो अधिग्रहित कर ली गई पर आठ माह बीतने के बावजूद मुआवजा न मिलने से प्रभावित परिवार अब झोपड़ी में रहकर दाने-दाने के लिए मोहताज हो गए हैं।

जानकारी के अनुसार बमीठा से होकर गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए भूमि का अधिग्रहण करके 5 मार्च 2021 को बमीठा में अधिग्रहित ऐरिया में बने मकान गिरा दिए गए थे। बमीठा में 17 लोगों के नाम से वर्ष 2020 में अवार्ड पारित किए गए थे। इनमें तीन परिवार ऐसे भी हैं, जो दयनीय स्थिति में अपना जीवन गुजार रहे हैं। बमीठा में खसरा नंबर 905 रकवा 0.042 में मलतू नामदेव, रकवा 0.023 में हामिद खान, रकवा 0.25 में राधेश्याम सेन का मकान बना था, जिसे कंपनी ने 5 मार्च 2021 को तोड़कर भूमि अधिग्रहित कर ली थी। तब से ये सभी परिवार एक झोपड़ी बनाकर रह रहे हैं उन्हें आज तक भूमि एवं मकान अधिग्रहण के बदले मुआवजा राशि नहीं दी, जिससे इन परिवारों की हालत दयनीय हो गई है। अपनी व्यथा सुनाते हुए दिव्यांग मलतू नामदेव ने बताया कि वह परिवार का मुखिया है। परिवार में एक बेटा है जिसकी मानसिक हालत सही न होने से ग्वालियर में उसका इलाज चल रहा है और बेटी भी मानसिक रोगी है। घर और जमीन हाइवे के लिए अधिग्रहित हो जाने के बाद से पूरा परिवार एक झोपड़ी में रहने को मजबूर है। कई बार वरिष्ठ अधिकारियों के ऑफिस के चक्कर लगाने के बावजूद मुआवजा राशि नहीं मिली है। बमीठा के 17 लोगों ने एसडीएम व थाना प्रभारी को आवेदन दिया है, जिसमें कहा गया है कि यदि 7 दिनों में उन्हें मुआवजा राशि नहीं दी गई तो सभी लोग राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण कार्य को रोककर आंदोलन शुरू कर देंगे।

मुआवजा वितरण में कई विसंगतियां:

ग्रामीणों ने बताया कि मुआवजा राशि देने में बहुत सी विसंगतियां है। उनका कहना है कि केंद्र सरकार ने भूमि अधिग्रहण एक्ट 2013 में लागू किया था, जिसके तहत जिसके तहत प्रत्येक प्रभावित परिवार को शासन की गाइडलाइन के अनुसार राशि दी जाना थी। बमीठा में 17 लोगों का अवार्ड 2020 में पारित किया गया, इन लोगों को 2013 भूमि अधिग्रहण एक्ट के अनुसार ही मुआवजा राशि मिलनी चाहिए लेकिन कई माह बीतने के बावजूद लोगों को भूमि एवं मकान की मुआवजा राशि आज तक नहीं मिली है।

वर्जन--

इस बारे में वरिष्ठ अधिकारियों को पूरी जानकारी दे दी गई है। एनएच के अधिकारियों से चर्चा करके मुआवजा राशि के लंबित सभी प्रकरणों का शीघ्र समाधान कराया जाएगा।

डीपी द्विवेदी,एसडीएम, राजनगर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local