लवकुशनगर(नईदुनिया न्यूज)। गौरीहार जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत के चुरयारी के पंचायत भवन में नवीन पत्थर खदान के संबंध में लोक सुनवाई शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें अधिकारियों के सामने ग्रामीणों ने पत्थर खदानों में गांव के युवाओं व रोजगार देने की मांग की वहीं पीएनसी कंपनी की मनमानी की शिकायत करके कई आरोप भी लगाए।

सुनवाई में ओम ग्रेनाट द्वारा चुरयारी मौजे के खसरा क्रमांक 410 में रकवा 1.100 हेक्टेयर व 410 नंबर पर ही 2.500 हेक्टेयर की पत्थर खदान के मुददे पर ग्रामीणों ने अपने तर्क दिए। गांव के प्रभुदयाल भुर्जी ने कहा कि चुरयारी गांव में पहले से चल रही दो पत्थर खदानों में स्थानीय लोगों को रोजगार नही दिया जा रहा है, इसलिए अब जो भी नई पत्थर खदान स्वीकृत हो संचालकों को स्थानीय लोगों को रोजगार देना चाहिए। ग्रेनाइट संचालक संजय जोशी ने ग्रामीणों को बताया कि खदान में तीन कैटागरी के लोगों की जरूरत होती है। गांव के शिक्षित व कम्प्यूटर दक्ष स्थानीय लोगों को रोजगार में प्राथमिकता मिलेगी। खदान संचालन के अन्य कार्यों में मजदूरों की आवश्यकता पड़ने पर उन्हें रोजगार मिलेगा। उन्होंने खदान संचालन में प्रदूषण रोकने का भरोसा दिलाया। प्रदूषण विभाग के सतीश चौकसे ने कहा कि ग्रामीणों की सहमति के बाद ही नई खदान शुरू होगी। एडीएम रामाधार अग्निवंशी ने ग्रामीणों को बताया कि खदान संचालक द्वारा सभी नियमों का पालन करने का संकल्क जताया है, गड़बड़ी करने की शिकायत मिलने पर कार्यवाही की जाएगी। चुरयारी निवासी राजेंद्र पाल सहित कई ग्रामीणों ने गांव में संचालित पीएनसी कंपनी की पत्थर खदान के खिलाफ विरोध जताते हुए कहा कि पीएनसी खदान के संचालक द्वारा पहाड़ से निकले वाले पानी को आसपास के खेतों में जबरन डाला जा रहा है जिससे फसल बर्बाद हो रही है। इसकी शिकायत करने पर उनके गुर्गे धमकाते हैं। लोक सुनवाई में एडीएम रामाधार सिंह अग्निवंशी, प्रदूषण विभाग के सतीश चौकसे, जीतेंद्र त्रिपाठी, नायब तहसीलदार सरवई नारायण कोरी, संचालक संजय जोशी, अनुप गुप्ता, ग्राम पंचायत सरपंच प्रभुदयाल भुर्जी सहित करीब सैकड़ा ग्रामीण मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local