तीन डॉक्टरों की टीम से कराया गया मृतकों का पोस्टमार्टम, एसपी पहुंचे अस्पताल

- दूसरे दिन भी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर की जांच, नहीं मिल सका कोई सुराग

- कमरे में रखी आलमारी का ताला तोड़कर बरामद किए दस्तावेज, मोबाइल भी जब्त

फोटो-----------------21बीटीएल21

बैतूल। मृतकों के जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के दौरान पुलिस अधीक्षक भी पहुंचे। फोटो- नवदुनिया

बैतूल। नवदुनिया प्रतिनिधि

शहर के भग्गूढाना क्षेत्र में स्थित विनोबा वार्ड के एक मकान में हुए तिहरे हत्याकांड के मामले में फिलहाल कोई सुराग पुलिस को नहीं मिल पाया है। पुलिस ने इसे जघन्य हत्याकांड में शामिल करते हुए मामले का पर्दाफाश करने के लिए एक विशेष टीम बना दी है। इसके साथ ही हत्याकांड के बारे में कोई भी सुराग देने वाले को 10 हजार रुपए का इनाम दिए जाने की घोषणा कर दी है। मृतकों का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिए हैं। गुरुवार को भी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की।

शहर के विनोबा वार्ड में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे फर्नीचर व्यापारी नंदू मालवीय (56) और फूलवा बाई आदिवासी (62) तथा उनके घर में काम करने वाली आरूल निवासी गीता बाई (40) के शव बुधवार रात में मिले थे। नंदू मालवीय का एक परिचित जब कल शाम को उससे मिलने पहुंचा तब उसने शव पड़े देखे और इस पूरे मामले का खुलासा हुआ। तीनों शवों पर धारदार हथियार के निशान थे। गंज थाना पुलिस और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी रात को ही एफएसएल टीम के साथ मौके पर पहुंच गए थे। घंटों तक चली जांच-पड़ताल के बाद पुलिस ने तीनों शवों को रात में जिला अस्पताल भिजवाया। गुरुवार सुबह डॉ. मोनिका सोनी, डॉ. अशोक कुमार और डॉ. राहुल अग्रवाल की टीम ने तीनों मृतकों का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम के बाद शवों को परिजनों को सौंप दिया। पोस्टमार्टम के दौरान एसपी कार्तिकेयन के.भी मौके पर पहुंचे। शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में मृतकों के शरीर पर गंभीर घाव के निशान मिले हैं। मृत पुरूष के गले पर भी धारदार हथियार से वार करने के निशान पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिले हैं। यह पूरी तरह से स्पष्ट हो गया है कि तीनों की बेरहमी से धारदार हथियार से हत्या की गई है। संभावना जताई जा रही है कि तीनों की हत्या 24 से 48 घंटे पहले की गई है।

विशेष दल करेगा मामले की जांच

एक साथ हुई 3-3 हत्याओं से न केवल क्षेत्र में बल्कि पूरे शहर में सनसनी व्याप्त है। यही कारण है कि पुलिस भी जल्द से जल्द मामले का पर्दाफाश कर हत्या के आरोपितों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाना चाहती है। इसके लिए एसपी श्री कार्तिकेयन ने एसडीओपी आनंद राय के नेतृत्व में एक विशेष दल बनाया है। इस दल को जल्द से जल्द मामले का पर्दाफाश करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ने इस अंधे तिहरे हत्याकांड के आरोपितों को पकड़वाने या फिर उसका पुख्ता सुराग देने वाले को 10 हजार रुपए का इनाम दिए जाने की घोषणा की है। इस बारे में सूचना देने वाले का नाम पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा।

हर एंगल से की जा रही पड़ताल

इस अंधे हत्याकांड को सुलझाना पुलिस के लिए एक चुनौती बन गया है। हत्यांकाड की जानकारी मिलने के बाद गुरुवार शाम तक भी पुलिस को इस प्रकरण को लेकर कोई ठोस सुराग नहीं मिल सका है। यही कारण है कि पुलिस सभी एंगलों से मामले की पड़ताल कर रही है। रात को पुलिस और एफएसएल टीम करीब 2 बजे तक मौके पर रहकर जांच-पड़ताल करती रही। इसके बाद मकान को सील कर दिया गया था। इसके बाद आज फिर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। जांच-पड़ताल के दौरान कमरे में एक चाकू भी पड़ा मिला, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि हत्यारे ने हत्या करने इसी का इस्तेमाल किया।

बॉक्स-------------------------------

आलमारी में थे दस्तावेज, किए जब्त

आज पुलिस जब दोबारा घर में जांच-पड़ताल को पहुंची तो कमरे में एक आलमारी रखी थी जो कि लॉक थी। पुलिस ने इस आलमारी का लॉक तोड़ा और उसमें रखे दस्तावेज जब्त किए। सूत्रों के अनुसार तिहरे हत्याकांड की संभावित वजह प्रॉपर्टी विवाद हो सकता है। हालांकि वास्तविक वजह जांच-पड़ताल के बाद ही सामने आ सकेगी। इसके साथ ही मकान में मिले मृतकों के मोबाइल भी पुलिस ने जब्त कर लिए हैं। इनकी काल डिटेल के आधार पर भी पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिल सकते हैं।

बॉक्स------

किसी परिचित का ही हो सकता है हाथ

रिहायशी क्षेत्र में 3-3 लोगों की हत्या हो जाए और पड़ोसियों को भनक भी न लगे, ऐसे में संभावना यह जताई जा रही है कि तीनों को पहले बेहोश किया गया और फिर हत्या की गई हो। यदि पूरी तरह होश में रहते हत्या की होती तो कोई न कोई अपनी जान बचाने के लिए घर से बाहर आने की कोशिश करता या कम से कम चीख-पुकार तो मचाता, जिससे पड़ोसियों को तो जानकारी मिल जाती। लेकिन यहां तीन हत्याएं हो गई और पड़ोसियों को इसकी कोई भनक तक नहीं लग सकी।

जल्द होगा पर्दाफाश

हत्या के मामले में अभी कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है। मामले का पर्दाफाश करने के लिए एक विशेष टीम बना दी है। इसके साथ ही आरोपितों का सुराग देने वालों के लिए 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर दिया है। मामले का जल्द पर्दाफाश हो जाएगा।

- कार्तिकेयन के., पुलिस अधीक्षक, बैतूल

Posted By: Nai Dunia News Network