ऑक्सीजन न मिलने से गोविंदपुरा के उद्योग हो रहे ठप, मंत्रियों से गुहार भी बेनतीजा-

- 1100 में से 600 उद्योगों में काम ठप, 15 दिन से ऑक्सीजन की सप्लाई बंद

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में ऑक्सीजन की सप्लाई बीते 15 दिन से बंद है। इस कारण फेब्रिकेशन व फार्मा के आधे से अधिक उद्योगों में काम ठप हो गया है। इसे लेकर उद्योगपतियों ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा व चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से गुहार लगाई थी, जिसका कोई नतीजा नहीं निकला। उद्योगपतियों का कहना है कि जरूरत की 10 फीसद ऑक्सीजन ही मिल जाए तो जैसे-तैसे काम चला लेंगे, लेकिन शासन इतनी ऑक्सीजन भी उपलब्ध नहीं करा पा रहा है। अब इन उद्योगों से जुड़े करीब 25 हजार कर्मचारियों के रोजगार पर भी संकट आ गया है।

गोविंदपुरा में करीब 1100 लघु उद्योग संचालित हैं। उत्पादन प्रभावित होने से प्रतिदिन करीब 100 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। उद्योगपतियों का कहना है कि वर्तमान में प्रदेश में मेडिकल इमरजेंसी है और इसके लिए ऑक्सीजन जरूरी भी है, लेकिन कुछ औद्योगिक इकाइयां ऐसी हैं, जो ऑक्सीजन के बिना नहीं चल सकती। यहां यदि 10 फीसद ही ऑक्सीजन सप्लाई कर दी जाए तो इन उद्योगों का काम चलता रहेगा।

मंत्री पहुंचे, दिया आश्वासन

गोविंदपुरा के उद्योगपति एवं एफएमपीसीसीआइ भोपाल (फेडरेशन ऑफ मप्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री) के पदाधिकारियों ने संयुक् रूप से मंत्री सारंग से 16 सितंबर को मुलाकात कर ऑक्सीजन की सप्लाई बहाल करने की मांग की थी। इसके अलावा 20 सितंबर को औद्योगिक क्षेत्र पहुंचे मंत्री सकलेचा के समक्ष भी मांग उठाई, जिस पर उन्होंने आश्वासन दिया था, लेकिन मंगलवार तक कोई हल नहीं निकला।

गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र : एक नजर में

संचालित लघु उद्योग- 1100

कार्यरत कर्मचारी- 25000

9 सितंबर से नहीं दी जा रही ऑक्सीजन

इतने उद्योगों में काम ठप - 600

--

ये बनाए जाते हैं उपकरण

- गोविंदपुरा के अधिकतर कारखानों में ऊर्जा के निर्माण संसाधन से जुड़े उपकरण बनाए जाते हैं। इनमें स्विच गीयर, ट्रेक्शन मोटर, ट्रांसफारमर, कंट्रोल गीयर आदि शामिल हैं। मंडीदीप में भी कई उद्योगों में ऑक्सीजन का उपयोग किया जाता है।

10 फीसद ऑक्सीजन ही दे दें

- गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में पिछले 15 दिन से ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है। इससे आधे से अधिक उद्योग दम तोड़ने की कगार पर हैं। यदि हमें जरूरत की 10 फीसद ऑक्सीजन ही मिल जाए तो जैसे-तैसे काम चला लेंगे।

अमरजीत सिंह, अध्यक्ष गोविंदपुरा इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन

शासन-प्रशासन से मांग की

- गोविंदपुरा एवं मंडीदीप औद्योगिक क्षेत्र ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं। इकाइयां बंद हो रही हैं। शासन-प्रशासन से ऑक्सीजन की सप्लाई शीघ्र करने की मांग की गई है।

डॉ. आरएस गोस्वामी, अध्यक्ष एफएमपीसीसीआइ मप्र

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020