कोरोना काल में अस्थियां रखने कम पड़े लॉकर, श्मशान में लॉकर दान कर रहे लोग-

- ट्रेनें कम होने से प्रयागराज (गंगाजी) नहीं जा पा रहे लोग, लॉकर फुल

28 वीडीएस 01

विदिशा। श्मशान घाट के विश्राम भवन में लोग अलमारी दान करने लगे हैं। नवदुनिया

विदिशा। नवदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना काल में शहर के श्मशान में अस्थियां रखने जगह कम पड़ रही है। यहां बने 36 लॉकर लॉकडाउन के समय से ही भरे हैं। ऐसे में कई लोगों को अपने परिजनों की अस्थियां रखने सही व सुरक्षित जगह ही नहीं मिल रही है। किसी ने पेड़ पर तो किसी ने गड्ढा खोदकर अस्थियों को गढ़ा दिया है। अब इस परेशानी को देखते हुए कुछ लोग लॉकर दान करने आगे आ रहे हैं।

शहर के सिंधी कॉलोनी में रहने वाले रवि मालवीय ने अपने पिता की स्मृति में श्मशान को 12 लॉकर वाली एक अलमारी दान की है। रवि ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से ही यहां अस्थियां रखने लॉकर खाली नहीं मिल रहे थे, इसलिए उनके पिता की पुण्यतिथि पर 8 हजार रुपये की ये अलमारी दान की है। पिछले 6 माह से ही ये परेशानी सामने आ रही है। मुक्तिधाम सेवा समिति सचिव मनोज पांडे के अनुसार यहां जगह की कमी के चलते कुछ लोग खुद की पेटी लेकर आ रहे हैं तो कई लोग पेड़ों की डालियों पर अस्थियों को लटकाकर जा रहे हैं। परेशानी को देखते हुए अब लोग लॉकर दान करने भी आने लगे हैं। नपा सीएमओ सुधीर सिंह के अनुसार लोग जनभागीदारी से श्मशान में सहयोग कर रहे हैं। श्मशान के विकास और बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए करीब पांच करोड़ रुपये का प्रस्ताव नपा ने बनाया है।

ट्रेनें कम होने से गंगाजी नहीं जा पा रहे लोग

बेतवा नदी किनारे बने श्मशान घाट में करीब चार अंतिम संस्कार रोज होते हैं, परंपरा अनुसार अस्थियों को प्रयागराज जाकर गंगाजी में प्रवाहित कर पिंडदान किया जाता है, लेकिन वर्तमान में ट्रेनों की कम संख्या होने से कई लोग अस्थियों को लेकर प्रयागराज(गंगाजी) नहीं जा पा रहे हैं, इसलिए वे श्मशान के विश्राम भवन में बने लॉकर में अस्थियों को रख रहे हैं। यहां पहले से ही 36 लॉकर हैं, जो अप्रैल में लॉकडाउन के दौरान ही भर गए थे। जून में अनलॉक होने और कुछ ट्रेनें शुरू होने के बाद अस्थियों को रखने वालों की संख्या कम हो रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020