छिंदवाड़ा। नगरीय निकाय चुनावों के शेष स्थानों पर चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने नगर पालिका परिषद दमुआ व जामई में सभा की।

दमुआ में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कमल नाथ ने कहा कि कोयलांचल क्षेत्र के इस प्रमुख नगर में विगत अनेकों माहों से विस्थापन की समस्या को लेकर सैकड़ों परिवार चिंतित है। डब्ल्यूसीएल द्वारा बार-बार नोटिस भी दिये जा रहे हैं परन्तु मैं आप सभी को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि विगत 60-70 वर्षों से निवासरत किसी भी दमुआ निवासी का घर रोजगार नहीं उजाड़ा जावेगा और चुनौती देने वाले यह जान लें कि यह जमीन सरकार की है और सरकार व जनता ने उन्हें लीज पर दी है। कमल नाथ ने कहा कि जब मैं प्रदेश का मुख्यमंत्री था तब मैंने कोल इंडिया के चेयरमैन से कहा था कि आपकी लीज खत्म हो गई है और यह जमीन प्रदेश सरकार को सौंपी जानी चाहिए ताकि इस पर निवासरत निवासियों को पट्टा दिया जा सके। इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री पांच बार दमुआ आए परन्तु उन्होंने क्षेत्रवासियों की इसस समस्या पर ध्यान नहीं दिया। यह दुर्भाग्यजनक है। श्री नाथ ने आगे कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही मैं दमुआ सहित सम्पूर्ण प्रदेश की डब्ल्यूसीएल की लीज निरस्त करवा दूंगा।

कमल नाथ ने अपने उदबोधन में कहा कि उनका व कोयलांचल का 42 साल पुराना नाता है और यह अटूट है।

नगर पालिका परिषद जामई में कमल नाथ ने कहा कि डब्ल्यूसीएल की जमीन किस तरह से कोयलांचल क्षेत्र के मूल निवासियों को और विशेषकर वे जो विगत 60-70 वर्षो से निवाास कर रहे हैं, उन्हें कैसे हस्तांतरित की जानी चाहिए यह प्रदेश के मुख्यमंत्री को पता ही नहीं है। उन्होंने जामई क्षेत्र की जनता को आश्वस्त किया कि ना तो किसी का मकान टूटेगाा और ना ही किसी जमीन खाली करवाई जाएगी। अपने उदबोधन में कमल नाथ ने आगे कहा कि भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर ने देश को एक अनूठा संविधान दिया परन्तु आज यह चिन्ता का विषय है कि यह संविधान धीरे-धीरे गलत हाथों में जा रहा है। हमें बाबा साहेब के इस संविधान को बचाना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close