बड़ी माता मंदिर ने भक्तजनों से मांगी माफी

स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की दृष्टि से उठाया गया था कदम

फोटो 1

नवरात्र के दौरान प्रवेश निषिद्ध रखने पर मंदिर ट्रस्ट ने मांगी क्षमा।

छिंदवाड़ा। हर वर्ष नवरात्र का त्योहार छोटी बाजार स्थित प्राचीनतम नगर शक्तिपीठ श्री बड़ी माता मंदिर में भव्यता एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता रहा है, जिसमें हजारों भक्तगण शामिल होते हैं। छिंदवाड़ा ही नहीं बल्कि आसपास के जिलों में भी नव दुर्गा के दौरान बड़ी माता की आरती में शामिल होने की होड़ लगी रहती है। किंतु इस वर्ष महामारी कोविड 19 के चलते बड़ी माता मंदिर के भक्तजनों के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर समिति द्वारा निर्णय लिया गया। जिसमें यह तय हुआ कि इस वर्ष समिति सदस्यों के अलावा अन्य किसी भी व्यक्ति को मंदिर प्रांगण में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मंदिर ट्रस्ट ने प्रशासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए मंदिर में माता के कलश दर्शन की अनुमति भी नहीं दी। प्रतिमा दर्शन हेतु मंदिर के प्रवेश द्वार से ही दर्शन करवाना ही सुनिश्चित रहा तथा ज्योति कलशों और मूर्ति विसर्जन यात्रा को सीमित सदस्यों के बीच सादगीपूर्वक आयोजित किया गया। प्रतिदिन की आरती में ट्रस्ट समिति के सदस्य, विद्यार्थी मंडल तथा कुछ प्रमुख सहयोगी ही मौजूद रहे। ट्रस्ट द्वारा सभी सहयोगियों को धन्यवाद प्रेषित किया गया। जिन्होंने प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से अपना सहयोग प्रदान किया। श्री बड़ी माता मंदिर ट्रस्ट द्वारा मंदिर के भूमि विस्तार हेतु महत्वपूर्ण रूप से सहयोग देने वाले दानदाताओं का भी आभार व्यक्त किया गया। इस दौरान उन सभी को विनम्र नमन किया गया। जिन्होंने समिति के आग्रह को मानकर शारदीय नवरात्र के कार्यक्रम को सफलतापूर्वक आयोजित करने में अपनी महत्वपूर्ण सहभागिता दी।

ट्रस्ट ने सार्वजनिक की, क्षमा की पाती

मंदिर ट्रस्ट समिति द्वारा मातारानी के भक्तों को संबोधित करते हुए क्षमा की पाती बड़ी माई के भक्तों के नाम लिखी गई है, जिसे विनम्रतापूर्वक भक्तजनों से साझा किया गया। भक्तों को भगवान स्वरूप बताते हुए इस क्षमा पाती में कहा गया कि इस कोरोना काल में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की दृष्टि से मंदिर में भक्तों का प्रवेश वर्जित रखा गया, उसके लिए मंदिर समिति क्षमाप्रार्थी है। आने वाले वर्षों में हम नवरात्र का त्योहार उतने ही उत्साह उमंग के साथ मनाएंगे, जिस भव्यता एवं भक्तिभाव से हम विगत वर्षों में आयोजन किया करते आए हैं।

बड़ी माता के भक्त स्वर्गीय विष्णु प्रसाद सोनी, दुर्गा बाई ताम्रकार, प्रीतम सिंह राजपूत, ट्रस्ट सदस्य स्वर्गीय संजय बनारसे के आकस्मिक निधन पर ट्रस्ट समिति द्वारा विशेष श्रृद्धांजलि दी गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस