छिंदवाड़ा। एक ओर शहर में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर जगह-जगह पसरी गंदगी अभियान की हवा निकाल रही है। हालत ये है कि शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। कलेक्ट्रेट परिसर भी गंदगी से अछूता नहीं है। ये स्थिति तब है कि स्वच्छता सर्वेक्षण में ही नगर निगम की गिनती प्रदेश के अग्रणी शहरों में रह चुकी है, एक समय प्रदेश के टॉप 10 और देश में अंडर 50 में छिंदवाड़ा नगर निगम का नाम शुमार हो चुका है, लेकिन वर्तमान स्थिति एकदम उलट हो गई है। यही नहीं शहर में डेंगू का प्रकोप भी बढ़ गया है, जिसमें कहीं न कहीं इस प्रकार की गंदगी चिंता में डालने वाली है। नगर निगम कमिश्नर हिमांशु सिंह के मुताबिक नगर निगम की टीम लगातार साफ सफाई के कार्य में जुटी रहती है, लेकिन नगर निगम की ये मुहिम मैदानी क्षेत्र में कहीं नजर आती है। यही वजह है कि गंदगी के अंबार हर जगह नजर आते हैं। गौरतलब है कि नगर निगम क्षेत्र में कुल 48 वार्ड हैं, इन वार्डों की साफ-सफाई नगर निगम की टीम के जिम्मे है। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन तो रोजाना हो रहा है, लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र में जगह, जगह गंदगी का आलम है। कलेक्ट्रेट परिसर में भी बड़े पैमाने पर गंदगी नजर आ रही है। यही नहीं रात में यहां अज्ञात लोग सोते भी नजर आते हैं। ऐसे में गंदगी लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं दूसरी ओर नाले, नाली की सफाई और कचरा उठाव की व्यवस्था कहीं नजर नहीं आती है। वहीं दूसरी ओर जगह-जगह सफाई के नारे लिखे वाले होर्डिंग बैनर लगे हुए हैं। जिसमें स्वच्छता को लेकर जागरुकता की बात कही जा रही है। जगह, जगह नजर आ रही गंदगी के कारण आमजन भी खासे परेशान हैं। इसे लेकर लोग नगर निगम के कर्मचारियों और अधिकारियों को भी समय, समय पर अवगत कराते रहते हैं, लेकिन इसे लेकर किसी भी प्रकार की सक्रियता नगर निगम के अमले द्वारा नजर नहीं आती है। वहीं स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम लगातार सक्रिय रहती है, इसके बाद भी इस प्रकार की परिस्थिति काफी चौंकाने वाली नजर आ रही है।

वर्जन

नगर निगम की टीम लगातार साफ-सफाई के कार्य में लगी हुई है, फिर भी कहीं समस्या आ रही है तो उसे ठीक की जाएगी।

हिमांशु सिंह, कमिश्नर नगर निगम

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local