तामिया। शासकीय माडल स्कूल वास्तव में शैक्षणिक वातावरण का माडल है। संस्था के प्राचार्य सीएल अहिरवार एंव शिक्षकों ने सभी प्रयोगशालाएं मेहनत से तैयार कर बच्चों को पूरी सुविधाएं दी हैं। अनुशासन प्रिय प्राचार्य श्री अहिरवार के प्रयासों से बच्चों का सर्वांगीण शिक्षा दिया जाना प्रशंसनीय है। संस्था में किए गए प्रयास अन्य संस्थाओं के लिए अनुकरणीय एंव प्रेरणास्पद है। जिले में शिक्षा के नवाचार के लिए प्रसिद्ध शासकीय मॉड्ल स्कूल तामिया इन दिनों फिर सुर्खियों में है। यह बात मध्यप्रदेश राज्य अनुसूचित जाति आयोग के सचिव जेके प्रभाकर ने शासकीय माडल स्कूल का निरिक्षण के बाद कही। जिले के अग्रणी स्कूलों में एक यह शैक्षणिक संस्था लगातार बेहतर और गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए चर्चा में है। राज्यपाल शिक्षक सम्मान प्राप्त प्राभारी प्राचार्य सीएल अहिरवार द्वारा इस संस्था को कई स्तर पर पहले भी सराहना मिल चुकी है। मध्यप्रदेश राज्य अनुसूचित जाति आयोग के सचिव जेके प्रभाकर ने शासकीय माडल स्कूल का निरीक्षण किया। श्री प्रभाकर ने स्कूल के निरीक्षण के बाद विजिटर बुक में अपनी महत्वपूर्ण टीप दर्ज की। अजा आयोग के सचिव श्री प्रभाकर ने बताया कि राज्य अनुसूचित जाति आयोग के सचिव प्रभाकर संस्था प्रमुख स्टाफ को बधाई देते हुए अधिक मेहनत से बच्चों का परिक्षाफल एवं करियर सुधारने की अपेक्षा के साथ शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि पहले भी कई अधिकारी एंव अतिविशिष्ट इस स्कूल को देखने पहुंचे हैं। शासकीय माडल में बच्चों का काउंसिलिंग सेंटर उमंग फिजिक्स कीमेस्ट्री बायो मैथ्स लैब स्वास्थ सबंधी कक्ष लायब्रेरी हस्तशिल्प कक्षा ध्यान केंद्र के साथ स्कूल के बाहर बगीचा सहित कई नवाचार आकर्षण का केंद्र है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local