Chindwara News : छिंदवाड़ा। राजस्व विभाग के कर्मचारियों, दलाल के साथ मिलकर अपने रिश्तेदार की जमीन अपने नाम करने का सनसनीखेज मामला चौरई पुलिस के सामने आने के बाद पुलिस ने जांच कर आरोपितों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। चौरई के ग्राम माचागोरा में आरोपित ने अपने मृत रिश्तेदारों के फर्जी हस्ताक्षर और अंगूठा लगाकर पैतृक जमीन व मकान अपने नाम पर कर लिया। इस फर्जीवाड़े में आरोपित ने तहसीलदार के रीडर पटवारी, दलाल को साथ में लिया तथा कुछ पैसे खर्च कर फर्जीवाड़े को अंजाम दिया। शिकायत के बाद मामले की जांच चौरई पुलिस ने की थी जिसमें फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। चौरई टीआइ शशि विश्वकर्मा ने बताया कि माचागोरा निवासी काशीराम मालवी ने पैतृक घर और जमीन फर्जी तरीके से अपने नाम की थी। इस कार्य के लिए आरोपित काशीराम ने दलाल मुकेश वर्मा से संपर्क किया था। दलाल ने इस कार्य के लिए काशीराम से एक लाख 50 हजार रुपये लिए थे। आरोपित दलाल मुकेश वर्मा ने तहसीलदार के रीडर और पटवारी चंचलेश ठाकुर से संपर्क किया था। दोनों ही राजस्व कर्मचारियों ने दलाल से 70 हजार रुपये लिए थे। सभी ने मिलकर मृतक के फर्जी हस्ताक्षर तथा अंगूठा लगाकर मकान और सात डिसमिल जमीन काशीराम के नाम पर कराई थी। पुलिस ने जांच के बाद मुख्य आरोपित काशीराम मालवी, उसका बेटा राकेश मालवी, पटवारी चंचलेश ठाकुर, दलाल मुकेश वर्मा समेत पांच लोगों पर धारा 420, 467, 468 के तहत मामला दर्ज किया है।

- नायब तहसीलदार के रीडर ने दिया आवेदन

चौरई नायब तहसीलदार के रीडर रामचरण बंजारा ने 27 सितंबर को एक लिखित आवेदन चौरई पुलिस को दिया था। आवेदन की जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने बुधवार की रात को पांच लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है जिन्हें गुरुवार को न्यायालय में पेश किया गया। राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा ही अपने अधीनस्थ कर्मचारियों की शिकायत करने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है वहीं अधिकारी अपने आप को बचाने में लगे हुए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close