छिंदवाड़ा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सिंचाई के लिए लगाए गए बिजली के तार में करंट लगाकर मृत्यु कारित करने के मामले में अदालत ने आरोपित को एक वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है। न्यायालय राहुल डोंगरे न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी जुन्नाारदेव द्वारा थाना नवेगांव में दर्ज प्रकरण के आरोपित जोगीलाल पिता मिल्लू उइके (53) निवासी कोरपानी खुर्द थाना नवेगांव को दोषी पाते हुए गैर इरादतन हत्या के मामले में 1 वर्ष का कारावास एवं 500 रुपये अर्थदंड से दंडित किया गया। प्रकरण में मध्यप्रदेश शासन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी गंगावती डेहरिया के द्वारा पैरवी की गई। घटना 5 अगस्त 2014 की है। प्रार्थी सूरज अपने गांव वाले घर में आटा लेने गया था। आटा लेकर खेत वाले घर पहुंचा तो उसकी पत्नी एवं लड़का घर पर नहीं मिले। उसने खेत तरफ जाकर देखा तो ताहकाडोल खेत में उसकी पत्नी संतरी बाई मृत पड़ी थी जिसके दोनों हाथ एवं सीने में बिजली का तार लिपटा हुआ था और शरीर जला हुआ था। उसका 7 वर्षीय लड़का मोनू के हाथ की उंगली भी करंट से जल गई थी। जिसकी रिपोर्ट प्रार्थी ने थाना नवेगांव में दर्ज कराई थी।

लापरवाह वाहन चालक को तीन माह का सश्रम कारावास

छिंदवाड़ा। न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी द्वारा लापरवाही पूर्वक वाहन चलाने के मामले में दिनेश पिता भगवानदास (40) निवासी लिंगा थाना मोहखेड़ को 3 माह का सश्रम कारावास एवं 1000 रुपये अर्थदंड से दंडित किया गया। फरियादिया चंदनगांव स्थित माता मंदिर के पास रोड पार कर रही थी कि तभी नागपुर की तरफ से दो पहिया वाहन एमपी 28 एससी 8303 के चालक ने तेी और लापरवाही से चलते हुए फरियादिया को टक्कर मार दी, जिससे उसे घुटने में चोट आई। फरियादिया ने इस आशय की रिपोर्ट दर्ज करवाई। शासन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी पारितोष देवनाथ द्वारा पैरवी की गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local