छिंदवाड़ा, (नवदुनिया प्रतिनिधि)। वर्षा के मौसम में नगर निगम के दावों की हवा निकल रही है। जगह-जगह जल भराव की स्थिति बन रही है, खजरी रोड स्थित निर्माणाधीन फ्लाईओवर के पास सड़क पर पानी भर गया है, जिसके कारण राहगीरों को निकलना मुश्किल हो रहा है। वहीं दूसरी ओर मेडिकल कालेज के सामने जल भराव की स्थिति बन गई है। वहीं नरसिंहपुर रोड और कलेक्ट्रेट के सामने भी जल भराव के कारण न सिर्फ सड़कें क्षतिग्रस्त हो रही है, बल्कि आमजन भी परेशान हो रहे हैं। ताज्जुब की बात ये है कि इन सब समस्याओं पर नगर निगम ध्यान भी नहीं दे रहे हैं। नगर निगम के अधिकारी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने की बात कह रहे हैं, लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार से समस्या का समाधान नहीं हुआ है, जिसके कारण रोजाना सड़क से गुजर रहे वाहन चालकों को खासी परेशानी हो रही है। खजरी रोड पर सड़क पर हुए गड्ढों के चलते वाहन हिचकोले खा रहे हैं। यही स्थिति अन्य क्षेत्रों में भी है। हर साल वर्षा के मौसम में कमोबेश यही स्थिति बनती है, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

वर्जन

खजरी रोड पर मेरी दुकान है, लेकिन रोज जल भराव के कारण दस से 15 मिनट अतिरिक्त समय पहुंचने में लग जाता है। वाहन भी खराब हो रहे हैं।

सुमित तोतलानी, रहवासी

जलभराव को लेकर पहले भी कई बार नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारियों को जानकारी दी गई, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं किया गया।

पीयूष शर्मा, रहवासी

मैं रोज इस सड़क से गुजरता हूं, सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं, जिसके कारण वाहन हिचकोले खा रहे हैं। लोगों को परेशानी हो रही है।

अनिल शर्मा, रहवासी

अभी चुनाव में नगर निगम का अमला व्यस्त था, जहां भी समस्या आ रही है, उसका समाधान किया जाएगा।

ईश्वर चंदेली, कार्यपालन यंत्री नगर नगम

--

तामिया में दूधी नदी उफान पर

छिंदवाड़ा। तामिया के बम्हनी सिंगोड़ी के पास दूधी नदी में दो अलग-अलग घटनाएं हुईं। एक बाइक सवार के उफनती नदी पार करने के दौरान अनियंत्रित हो गया। उसकी जान तो बच गई, लेकिन बाइक बहाव में बह गई। इसी प्रकार एक बैल तेज बहाव में बह गया, जिसे ग्रामीणों ने जैसे-तैसे बचाया। तामिया के सीमावर्ती क्षेत्र अंतर्गत बम्हनी सिंगोड़ी मार्ग पर बाढ़ से दूधी नदी का पुल डूबा रहा, जिससे इस मार्ग पर लोगों का आवागमन बंद रहा। दूधी नदी में बाढ़ से बम्हनी सिंगोड़ी - मार्ग बंद रहने पर 25 गांव का सड़क संपर्क टूटा रहा।

वहीं एक बैल बहकर आया, जिसे ग्रामीणों ने पुल के समीप पानी से बाहर निकाला। इसी तरह बम्हनी निवासी संतोष यादव (45) अपने रिश्तेदार के घर सिंगोड़ी गए थे, जो वापस घर लौट रहा था। पुल के ऊपर बहते पानी की गति को नजर अंदाज कर बाइक लेकर रास्ता पार करने का प्रयास किया, जिससे उनका वाहन अनियंत्रित होकर बह गया, जिसकी शाम तक तलाश होती रही। ग्रामीणों के अनुसार उच्च स्तरीय पुल निर्माण कार्य प्रस्तावित है, जिसकी दो साल से ड्राइंग स्वीकृत नहीं हुई। बाढ़ के दौरान पुल पार करने से रोकने यहां कोई इंतजाम नहीं रहता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close