आधा घंटे देरी से शुरू हुई बैठक, आधा घंटे में ही हुई खत्म

फोटो नव दुनिया 14

कलेक्टर कक्ष में लगी रही लोगों की भीड़

15

कलेक्ट्रेट में भी लोगों की रही भीड़

16 और 17 ,18

कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई बैठक

छिंदवाड़ा। जिला योजना समिति की बैठक में बिजली और पानी की समस्या ही मुख्य रूप से चर्चा में रही। विधायकों ने भी अपने-अपने क्षेत्र में बिजली कटौती और पानी की समस्या को लेकर आ रही शिकायतों के बारे में जानकारी दी। जिसके बाद प्रभारी मंत्री ने कहा कि मैंटनेस के कारण बिजली कटौती की जा रही है, लेकिन ये अघोषित नहीं होना चाहिए। आमजन को बिजली कटौती के बारे में जानकारी दी जानी चाहिए। प्रभारी मंत्री ने जल संकट को लेकर कहा कि इस समस्या का स्थाई समाधान किया जाएगा। समूह नज जल योजना के तहत ग्राम पंचायत स्तर पर पानी की व्यवस्था की जाएगी। दो साल के भीतर सारे बदलाव हो जाएंगे। वहीं दूसरी ओर बैठक में नवनिर्वाचति सांसद नकुल नाथ विशेष रूप से मौजूद रहे। ताज्जुब की बात ये रही कि निर्धारित समय से आधा घंटे देरी के बाद दोपहर 12 बजे बैठक शुरू हुई। जो महज आधा घंटे ही चल सकी, जबकि इसमें विभिन्ना विभागों के प्रमुख और विधायक समेत तमाम जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। ऐसे में इसे लेकर भाजपा ने भी सवाल उठाया है।

प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, जिले के प्रभारी मंत्री एवं जिला योजना समिति के अध्यक्ष सुखदेव पांसे की अध्यक्षता एवं नवनिर्वाचित सांसद नकुल नाथ की विशिष्ट उपस्थिति में कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में जिला योजना समिति की बैठक संपन्ना हुई । बैठक में ऊर्जा और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभागों की समीक्षा की गई।

सांसद नकुल नाथ के विशेष पहल पर प्रभारी मंत्री श्री पांसे ने कहा कि जिले में बिजली और पानी की सतत आपूर्ति करें तथा यदि कोई समस्या हो तो अवगत कराएं। उन्होंने छिन्दवाड़ा शहर में पेयजल की सतत आपूर्ति के लिये लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग से तकनीकी स्वीकृति लेकर 20 लाख रुपए तक की अच्छी गुणवत्ता की मोटर लेकर पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित कर तत्काल पेयजल समस्या का निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने आवश्यकता के अनुसार परिवहन द्वारा भी पेयजल उपलब्ध कराने के लिये कहा। उन्होंने निर्देश दिए कि यदि बिजली आपूर्ति में मेंटेनेंस या तकनीकी कारण हो तो उसे शीघ्र ही दूर कर पूरे जिले में नियमित रूप से बिजली उपलब्ध करायें और बरसात के पूर्व मेंटेनेंस का कार्य पूर्ण करें। यदि मेंटेनेंस के लिये बिजली कटौती की जा रही है तो समाचार पत्रों के माध्यम से आम जनता को अनिवार्य रूप से सूचित करें । उन्होंने निर्देश दिए कि दो लाख रूपये से अधिक ऋण वाले पात्र किसानों से खाद और बीज पर ब्याज नहीं लें और सभी पात्र किसानों को खाद और बीज उपलब्ध करायें । जिले में किसानों के लिये खाद और बीज की कोई समस्या नहीं रहें यह सुनिश्चित करें।

नवनिर्वाचित सांसद नकुल नाथ ने कहा कि जिले में बिजली और पानी की समस्या का शीघ्र निराकरण किया जायेगा। साथ ही हर पात्र किसान का कर्जा माफ होगा। किसानों को खाद और बीज जल्द ही उपलब्ध कराया जायेगा तथा जिले में खाद और बीज की निरंतर आपूर्ति की जायेगी । उन्होंने कहा कि जल्द ही को-ऑपरेटिव बैंकर्स की बैठक आयोजित की जायेगी जिसमें किसानों से संबंधित समस्याओं के निराकरण के संबंध में चर्चा कर निर्णय लिये जायेंगे। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी द्वारा बताया गया कि जिले में नई सरकार के गठन के बाद जनवरी से अभी तक 990 हैंडपम्पो का खनन किया गया है जो मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली बार है। जिले में किसी प्रकार पेयजल समस्या न हो इसलिये पेयजल सुनिश्चिता का दिशा में प्रदेश सरकार और सांसद श्री नकुल नाथ के निर्देशानुसार हर संभव प्रयास किया जा रहा है ।

झलकियां

आधे घंटे देरी से बैठक शुरू हुई, प्रभारी मंत्री और नकुल नाथ एक साथ आए

कांग्रेस के छह विधायक बैठक में मौजूद रहे, पूर्व विधायक दीपक सक्सेना भी मौजूद रहे

कलेक्ट्रेट में बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं और आमजन की भारी भीड़ लग गई, जो अपने काम करवाने के लिए घूम रहे थे

जिले भर से आए विधायकों के साथ उनके समर्थक भी बड़ी संख्या में मौजूद रहे

पूर्व विधायक दीपक सक्सेना ने बिजली के ओवरलोड के कारण रोहना में सब स्टेशन स्थापित करने की मांग की

बैठक में महापौर कांता सदारंग और जिला पंचायत अध्यक्ष कांता ठाकुर मौजूद रहीं

जिला योजना समिति की बैठक के बाद कलेक्टर कक्ष में विधायकों की अलग से बैठक हुई

जिला स्तरीय कंट्रोल रूम गठित

छिंदवाड़ा। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जिले के प्रभारी मंत्री और जिला योजना समिति के अध्यक्ष सुखदेव पांसे की अध्यक्षता में संपन्ना जिला योजना समिति की बैठक में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में जिले के नवनिर्वाचित सांसद नकुल नाथ विशेष रूप से उपस्थित थे। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कांता ठाकुर, नगर निगम महापौर श्रीमती कांता सदारंग, मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. संजय श्रीवास्तव एवं निज सचिव जे.पी.सिंह, विधायकसुनील उईके, सोहन वाल्मिक, निलेश उईके, विजय चौरे, सुजीत चौधरी और कमलेश शाह, पूर्व विधायक दीपक सक्सेना, समिति के अन्य सदस्यगण, कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा, पुलिस अधीक्षक, मनोज कुमार राय, अतिरिक्त कलेक्टर राजेश शाही, एस.डी.एम. अतुल सिंह, उप संचालक कृषि जे.आर.हेडाउ और अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित थे ।

बैठक में जिले के सांसद श्री नाथ ने जिले के किसानों की समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिये कृषि, सहकारिता, लीड बैंक एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत संयुक्त प्रयास कर किसानों से आवेदन प्राप्त करें और उनका निराकरण करें। साथ ही जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत जिले के कृषकों की समस्याओं के आवेदन एवं शिकायत दर्ज करने के लिये जिला स्तर पर कंट्रोल रूम का गठन करें। सांसद श्री नाथ निर्देशों के परिपालन में कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा के मार्गनिर्देशन में कृषि विभाग के कार्यालय में जिला स्तरीय कंट्रोल रूम का गठन किया गया जिसका दूरभाष क्रमांक 07162-247163 है । इस दूरभाष क्रमांक पर जिले के किसान प्रातः 9 से रात्रि 9 बजे तक अपनी समस्याएं मौखिक रूप से अंकित कराएंगे। इसके अतिरिक्त जिले के किसान लिखित रूप से स्वयं उपस्थित होकर या आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा राजस्व अनुविभागीय अधिकारी को अनुभाग स्तर पर अपीलीय अधिकारी नियुक्त किया गया है जहां पर किसान फसल ऋण माफी योजना से संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिये अपील प्रस्तुत कर सकते है । बैठक में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों द्वारा जय किसान फसल ऋण माफी योजना के संबंध में आ रही विभिन्ना समस्याओं से अवगत कराया।

बाक्स में

प्रभारी मंत्री के पास समय नहीं फिर बैठक का ढकोसला क्यों:भाजपा

छिंदवाड़ा। भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री शिव मालवी, नगर निगम जल प्रदाय विभाग के सभापति संतोष राय एवं भाजपा नेता हरिओम सोनी ने आरोप लगाया कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद जिले का विकास कार्य अवरूद्ध हुआ है। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के सरकार के समय में चलने वाली विकास की योजनाओं को राजनैतिक द्वेषता के कारण या तो बंद कर दिया गया है या बजट रोककर उस कार्य को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि छिन्दवाड़ा मॉडल की बात करने वाले कमलनाथ की कांग्रेस सरकार के शासन में जिला योजना समिति की बैठक औपचारिकता बनकर रह गई है। इसी तारतम्य में आज महापौर कान्ता सदारंग एवं भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने अपने जिले के विकास के मामलों को लेकर बैठक में बैठे किन्तु विकास के संबंध में कोई चर्चा नहीं की गई एवं प्रभारी मंत्री ने कहा कि आपकी समस्याएं कलेक्टर को दे दो और यह बैठक नवनिर्वाचित सांसद नकुलनाथ के परिचय को लेकर रखी गई है जबकि यह बैठक के एजेंडे में जिले में पेयजल के संकट एवं विकास की योजनाओं को लेकर रखी गई थी किन्तु बैठक में कोई चर्चा नहीं की गई। महापौर कान्ता सदारंग ने कड़ी प्रतिकिया व्यक्त की है एवं प्रभारी मंत्री के इस रवैये की कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि वर्तमान में शहर से लेकर सम्पूर्ण जिले में पेयजल का संकट है, किसानों के खरीफ की बोनी का समय है ऐसे में महत्वपूर्ण बैठक को औपचारिक बताकर खत्म कर देना किसानों और छिन्दवाड़ा की प्यासी जनता के साथ घोर अन्याय है । किसानों को कर्ज माफी के नाम पर झूठे वादे कर सत्तासीन होने वाली कांग्रेस ने धोखा दिया है कन्हरगांव से भरतादेव फिल्टर प्लांट तक की पाइप लाईन 40 वर्ष पुरानी है और जीर्ण-शीर्ण हो चुकी है । ग्रेविटि पाईप लाईन का प्रस्ताव निगम द्वारा जमा किया गया, इस प्रस्ताव की वारिस पूर्व स्वीकृति दी जाए ताकि नगर निगम क्षेत्र में पेयजल की सुचारू व्यवस्था बनाई जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network