छिंदवाड़ा, नवदुनिया प्रतिनिधि। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण बुधवार को भोपाल में हुई बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छिंदवाड़ा में गुरुवार की रात आठ बजे से सात दिनों का लॉकडाउन लगाने के आदेश दिए है। यह लॉकडाउन गुरुवार की रात आठ बजे से 16 अप्रैल सुबह 6 बजे तक लगाया गया है। लॉकडाउन की खबर सोशल मीडिया पर बुधवार को आने के बाद लोगों ने खरीदी करने बाजारों का रुख किया। गुरुवार को भी सुबह से ही बाजारों में भीड़ बढ़ गई। जिला प्रशासन की ओर से कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने जिले के लोगों से अपील भी की थी कि लॉकडाउन की खबर लगते ही वह बाजारों में भीड़ ना लगाएं। जरूरत के सामान की व्यवस्था लॉकडाउन के दौरान बनाई जाएगी तथा आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। लेकिन शहर के प्रमुख बाजारों में किराना, फल, दवाई व सब्जी की दुकानों में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह होते ही लोग किराना दुकानों पर पहुंच गए। लोगों ने खरीदी के चक्कर में शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं किया। जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के दौरान बहुत सारी छूट दी है, लेकिन उसके बाद भी लोगों ने नियमों की अवहेलना की तथा कोरोना संक्रमण को दरकिनार किया। जिला प्रशासन ने साफ किया है कि दूध विक्रताओं को छूट रहेगी, मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे, एटीएम व पेट्रोल पंप खुले रहेंगे, टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर लोग टीका लगवा सकेंगे, अति आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों को छूट रहेगी, थोक सब्जी मंडी खुली रहेगी तथा थोक मंडी से फुटकर विक्रेताओं को सब्जी दी जा सकेगी, फुटकर विक्रेता फल व सब्जी की होम डिलेवरी कर सकेंगे। खाद्य एवं आवश्यक सामग्री की दुकानों से होम डिलीवरी के माध्यम से सामग्री घर तक पहुंचाई जाएगी, गैस एजेंसियां खुली रहेगी तथा गैस की होम डिलीवरी लगातार होगी।

सब्जियों व अन्य सामान के भाव बढ़े

सात दिन के लॉकडाउन की खबर लगते ही गुरुवार की सुबह से आवश्यक सामान की दुकानें बाजारों में सज गईं। लेकिन इस दौरान सब्जियों के साथ ही अन्य खाद्य सामान के भाव भी बढ़ गए। जिस टमाटर को पांच रुपये किलो के हिसाब से भी नहीं पूछा जा रहा था, वह गुरुवार को बीस से तीन रुपये प्रति किलो बिक रहा था। सब्जियों के भाव एक दिन पहले के मुकाबले दो से तीन गुना हो गए। लॉकडाउन लगने के कारण लोगों ने सात दिनों के हिसाब से सभी सामान की खरीदी की। बाजारों में अचानक बढ़ी भीड़ को नियंत्रित करने के कोई इंतेजाम नहीं थे। जिला अस्पताल के सामने दवाई दुकानों में तो फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं दिखा, जबकि जिला प्रशासन दवाई दुकानों के खुले रहने के आदेश दिए है। वहीं पेट्रोल पंप भी लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे। लेकिन पेट्रोल पंप पर भी भीड़ देखी जा रही थी।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local