फोटो-----18 बीटीएल 23, 24

बैतूल। सिवनपाट घाट पर पानी होने के बावजूद नदी पार कर रहे लोग। फोटो- नवदुनिया

बैतूल। नवदुनिया प्रतिनिधि

सारणी का सतपुड़ा डैम चोपना पुनर्वास क्षेत्र के गांवों में रहने वाले लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। तवा नदी का सिवनपाट घाट डैम के गेट छोड़ते ही पानी में डूब जाता है। जिले में बारिश शुरू होने के बाद से इस घाट पर बना रपटा पानी में ही डूबा रहता है। रविवार को भी यह रपटा पानी में डूबा हुआ था। यही कारण है कि लोगों को अपनी जान जोखिम में डालकर इसे पार करना पड़ा। रपटे के ऊपर से पानी बहने के बावजूद लोगों को रोकने के लिए यहां पर कोई भी कर्मचारी नजर नहीं आया। क्षेत्र के 20 से 25 गांवों के लिए यहीं से रास्ता जाता है। अभी रक्षाबंधन का त्योहार मनाने के लिए लोग घर आए थे। त्योहार मनाकर आज सभी को वापस जाना था। इस घाट के अलावा 2 अन्य रास्ते बांसपुर और कटंगी होते हुए हैं, लेकिन इनसे 20 से 25 किलोमीटर का फेरा लगाना पड़ता है। इसके चलते समय और इंधन बचाने के लिए लोग यहीं से पार करते हुए नजर आए। रपटे पर पानी काफी अधिक था और ऐसे में कोई हादसा भी हो सकता था। ग्रामीणों के अनुसार पिछले करीब 1 महीने से इस घाट पर बना रपटा पानी में ही डूबा रहता है। इसके चलते क्षेत्रवासियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।