मोहखेड़। सारंगबिहरी-झिरिया के बीच एक पुलिया क्षतिग्रस्त हो चुकी है, जिससे यहां पर आए दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही है। ग्रामीण बबलू खिरेकर, हाजीक पटेल, हनीफ पटेल, रामदास डिगरसे, जगदीश पवार समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि क्षतिग्रस्त पुलिया के कारण लोगों को यहां से आवागमन में काफी परेशानी आ रही है। यहां आए दिन छुटपुट हादसे तो होते ही रहते हैं, वहीं बड़े हादसे का खतरा भी बना रहता है। जिन लोगों को टूटी पुलिया और सड़क पर बड़े गड्ढे की जानकारी है वे तो आसानी से निकल जाते हैं, लेकिन जिन्हें इस बारे में जानकारी नहीं होती है वे अंजाने में यहां गड्ढे में गिरकर हादसे का शिकार हो जाते हैं। कई बार तो बड़ा हादसा होते-होते टल चुका है। इस मार्ग से निकलना बड़े जोखिम से कम नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि इस बारे में कई बार जिम्मेदारों को बताया गया पर किसी ने इस ओर जरा भी ध्यान ही नहीं दिया। ऐसे में लगता है कि अधिकारियों को शायद किसी बड़े हादसे का इंतजार है, इसके बाद ही इस क्षतिग्रस्त पुलिया की सुध ली जाएगी।

भंडारकुंड गांव में लटक रहे विद्युत तार से मंडरा रहा खतरा

मोहखेड़। सावधानी हटी, दुर्घटना घटी इस स्लोगन पर दूसरों को नसीहत देने वाला विद्युत विभाग खुद अमल नहीं कर रहा है। विद्युतीकरण कार्य करने वाली एजेंसी व विभागीय लापरवाही के कारण आज भी क्षेत्र के कई टोला और मोहल्लों में बांस बल्लियों के सहारे बिजली की आपूर्ति हो रही है। ऐसे मोहल्लों में जर्जर और कम ऊंचाई पर झूल रहे बिजली के तार से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। मोहखेड़ विकासखंड के ग्राम भंडारकुंड में पोल पर लटक रहे तार से खतरा बना हुआ है। इतना नही तार कई झोपड़ीनुमा घरों के ऊपर से इतने खतरनाक ढ़ंग से गुजरे है कि देखते ही रोंगटें खड़े हो जाते है। नीचे झूल रहे बिजली के तार से खतरे की आशंका को देखते हुए ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close