हर्रई। आने वाले समय में पंचायती चुनाव को देखते हुए हर्रई जनपद पंचायत के सभाकक्ष में दावे आपत्ति पेश करने के संबंध में प्रशिक्षण शिविर रखा गया। जिसमें समस्त 67 पंचायतों के सचिव एवं रोजगार सहायक उपस्थित थे मास्टर ट्रेनर श्री एस के पाठक की उपस्थिति में सभी को प्रशिक्षण दिया गया साथ में हर्रई तहसीलदार शंकर मरावी जनपद पंचायत सीईओ जे एस ठेपे पंचायत खंड अधिकारी आर के ठाकुर विधानसभा मीडिया प्रभारी राजेश कुमार नेमा उपस्थित थे प्रशिक्षण के दौरान दावे आपत्ति दर्ज कराने की अवधि एवं उनके निराकरण संबंधी सभी जानकारी एसके पाठक जी के द्वारा दी गई दावे आपत्ति दर्ज कराने की तारीख 13 नवंबर से 21 नवंबर तक है जो कि सभी पंचायतो मे चस्पा की जाएगी उक्त संबंध में अधिकारियों के द्वारा सभी जानकारी उपस्थित सचिव रोजगार सहायकों को दी गई।

पीएम के बाद भी अरविंद की मौत पर संशय बरकरार

दमुआ। सोमवार अपने ही घर मे मृत मिले युवक अरविंद उर्फ पिद्दा की मौत का रहस्य मंगलवार उसके शव परीक्षण के बाद भी बरकरार ही रहा। जिले से आई एफएसएल टीम ने भी मौके पर जाकर मुआयना किया। उसकी मौत का रहस्य बना हुआ है। मंगलवार को स्थानीय चिकित्सालय में पुलिस ने उसका शव परीक्षण कराया। इधर जिले से एफएसएल टीम में शामिल डॉ.अजिता जौहरी प्र.आ.उस्मान खान और रोहित चौहान ने मौका मुआयना भी किया। इतना ही कहा गया कि विसरा रिपोर्ट से ही साफ हो सकेगा कि अरविंद की मौत कैसे हुई। इधर पुलिस ने भी कहा कि पीएम में मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं है। मालूम हो कि सोमवार दमुआ थाना अंतर्गत एक युवा बेटे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की खबर ने क्षेत्र में सनसनी फैला दी थी।तीन दिनों से लापता बेटे की खोज खबर लेने पहुंची मां जब खुद के घर के अंदर गयी तब उसे अपना जवान बेटा मृत स्थिति में मिला। आसपास के लोगों ने घटना स्थल पर पहुंची पुलिस को बताया कि 27 वर्षीय मृतक अरविंद उर्फ पिद्दा दुस्सर पिता मनोहर दुस्सर शनिवार से नही दिख रहा था। इन दिनों वह अपने घर मे अपने मौसेरे भाई चिन्टू के साथ रहता था। बेटे की मौत से दुखी रोती बिलखती मां गुड्डी ने बताया कि उसकी बेटे से उसकी किसी अन्य के मोबाइल पर शनिवार बारह बजे के आसपास बात हुई थी ।बेटा यहा? अपने मौसेरे भाई चिन्टू के साथ रहता था। मां गुड्डी छोटे बेटे संदीप के पास बैतूल में रह रही थी ।शनिवार के बाद लगातार प्रयासों पर भी जब उसका संपर्क अपने मृतक बेटे से नही हुआ तो सोमवार वह छोटे बेटे संदीप के साथ दमुआ पहुंची। लापता बेटे की खोज खबर के लिए वह आज सोमवार ही सांगाखेड़ा तक पहुंची। वहां से लौटने पर घर पहुंची तो बेटे की संदेहास्पद मौत पर बिलख पड़ी। पुलिस को सूचना दी गयी इधर अरविंद उर्फ पिद्दा की मौत की सनसनी फैलाती खबर से सिद्धनाथ टेकड़ी के समीप रैनबसेरा से लगे उसके आवासीय क्षेत्र में लोगो का हुजूम उमड़ पड़ा था ।

सूचना पाते ही एसडीओपी एस के सिंह तहसीलदार कमलेश नीरज नायब तहसीलदार आशिष उपाध्याय थाना प्रभारी सुमेरसिंह जगेत अमले सहित मौके पर पहुंचे । पुलिस ने सूचनाकर्ता संदीप दुस्सर रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए मर्ग कायम कर जांच में लिया। टी आई सुमेर सिंह जगेत ने बताया कि मृतक का शव परीक्षण के बाद भी मौत का काऱण स्पष्ट नहीं हो सका है। उन्होंने प्रथम दृष्टया पॉयजनिंग की आशंका व्यक्त की है। जांच कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network