बैतूल। पंजीयन प्राधिकारी तथा उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास केपी भगत से प्राप्त जानकारी के अनुसार खरीफ वर्ष 2019 में उर्वरक गुण नियंत्रण के तहत जिले के उर्वरक विक्रेताओं के यहां से उर्वरकों के नमूने लिए जाकर विश्लेषण हेतु सहायक रसायन विशेषज्ञ उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला जबलपुर भेजे गए थे। प्रयोगशाला से प्राप्त विश्लेषण रिपोर्ट के अनुसार आ.जा.सेवा सहकारी समिति मर्यादित आठनेर से लिए गए गुजरात स्टेट फर्टिलाइजर एण्ड केमी. लिमिटेड बड़ौदा के उर्वरक डीएपी 18ः46 लॉट नंबर बीपीएफ-107/18 को अमानक घोषित किया गया है एवं उर्वरक (नियंत्रण) आदेश 1985 के खण्ड 26 की धारा-19(ए) के अंतर्गत उर्वरक का विक्रय केन्द्रों में उपलब्ध स्कंध की शेष मात्रा का क्रय-विक्रय जिले में तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है।