छिंदवाड़ा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। चांदामेटा थाना क्षेत्र अंतर्गत भमोड़ी से रमपुरी मार्ग पर 21 मई को युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। युवक के शरीर पर चोट के निशान थे। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात आरोपितों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था। पुलिस ने मृतक की शिनाख्त लक्ष्मण उर्फ अन्नाू पिता श्रीराम यादव (32) निवासी चांदामेटा से की थी। मृतक लक्ष्मण यादव को अंतिम बार टेंट में काम करने वाले साथी अनुराग कौरव, चालक मनोज जावरिया के साथ देखा गया था। पुलिस ने जांच में अनुराग उर्फ कोको कौरव, मनोज जावरिया, जाहिद अख्तर, एजाज अहमद व इदरीश उर्फ बिट्टी से पूछताछ शुरु की थी। संदेही आरोपित अनुराग उर्फ कोको कौरव, मनोज जावरिया, एजाज अहमद, इदरीश उर्फ बिट्टी मुहम्मद, जाहिद अख्तर से सख्ती से पूछताछ की गई तो हत्या की पूरी कहानी पुलिस के सामने बयां कर दी। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि मृतक लक्ष्मण यादव विगत 7-8 वर्षो से हिना टेंट हाउस के मालिक जाहिद अख्तर निवासी चांदामेटा के यहां काम करता था। टेंट हाउस में लक्ष्मण के अलावा आरोपित अनुराग कौरव व मनोज जावरिया भी काम करते थे। घटना के दिन वाहन चालक मनोज जावरिया एवं साथी कर्मचारी लक्ष्मण यादव, अनुराग कौरव को मालिक जाहिद अख्तर ने सर्वप्रथम टेंट का सामान बरेली टेंट हाउस से लाने को कहा था। सामान उतारते समय लक्ष्मण द्वारा अनुराग के हाथ की उंगली दब गई। अनुराग कौरव इस बात से नाराज होकर लक्ष्मण को थप्पड़ मार दिए थे। अनुराग कौरव अत्यधिक गुस्से में आकर लोहे की राड से लक्ष्मण यादव पर हमला कर दिया। हत्या के बाद आरोपित जाहिद अख्तर, इदरीश उर्फ बिट्टी, एजाज अहमद, मनोज जावरिया के साथ मिलकर साक्ष्‌य छिपाने की नीयत से मृतक लक्ष्मण यादव के शव को दूर ले जाकर फेंक दिया था। इस मामले में पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है तथा धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर जेल पहुंचा दिया गया है। इस हत्या के पर्दाफाश में एसडीओपी अनिल कुमार शुक्ला, थाना प्रभारी चांदामेटा राजेन्द्र मर्सकोले, चौकी प्रभारी बड़कुही सउनि राघवेन्द्र उपाध्याय, सउनि मनोज रघुवंशी, सउनि अशोक यादव, प्रधान आरक्षक अजयसिंह बैस, मधु कुलस्ते, आरक्षक राजपाल, चेतन तिवारी, प्रदीप बघेल, अनवर खान, अमरपाल व सैनिक गौरव यादव की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close