अपडेट -

फाइल 16 पेज 13 की लीड

- भोपाल तिराहे पर शनिवार रात 11 बजे से रविवार सुबह 8 बजे मौजूद रहा रेत माफिया

16एचओएस13 - होशंगाबाद। भोपाल तिराहे पर खड़ी कार के पास पुलिसकर्मी को बुलाकार दस्तावेजों की गई जांच। नवदुनिया।

16एचओएस14 - होशंगाबाद। खनिज नाके और पुलिस सहायता कें द्र के बीच में खड़ी थी कार। नवदुनिया।

16एचओएस15 - होशंगाबाद। मंडी परिसर में खड़े कराए गए जब्त कि ए गए वाहन। नवदुनिया।

होशंगाबाद, नवदुनिया प्रतिनिधि।

रेत माफियाओं के विरुद्ध भोपाल तिराहे पर शनिवार देर रात 11 बजे से लेकर रविवार सुबह 8 बजे तक की गई कार्रवाई संदेह के घेरे में आ गई है। दस घंटे तक अधिकारियों ने कार्रवाई की उतनी ही देर रेत माफिया अपनी बिना नंबर की कार के साथ वहीं मौजूद रहा। इतना ही नहीं कु छ रेत वाहनों की रायल्टी की भी जांच उक्त रेत माफिया ने आला अधिकारी की मौजूदगी में की। पूरे घटनाक्रम का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें दावा कि या जा रहा है कि रेत माफिया की बगल की सीट में एक अधिकारी बैठे हुए हैं। मामले की जानकारी जिला प्रशासन के आला अधिकारियों को भी लगी है जिसके बाद प्रशासनिक हल्के में हलचल मची हुई है।

एसडीओपी व तहसीलदार ने पकड़ा था

भोपाल तिराहे पर स्थित खनिज नाके के पास सफे द रंग की बिना नंबर की कार रेत माफिया की बताई जा रही है। 16 जनवरी 2020 को इसी रेत माफिया ने मखर्राघाट स्थित रेत खदान पर एसडीओपी मोहन सारवान व तहसीलदार शैलेंद्र बड़ोनिया पर हमला कर दिया था। इस दौरान अधिकारियों ने बहादुरी का परिचय देते हुए रेत माफिया को पकड़ लिया था जिनके खिलाफ देहात थाने में रेत चोरी का के स दर्ज भी कि या गया था। वहीं फरार आरोपित के विरुद्ध पांच हजार रुपए का इनाम घोषित कि या गया था।

रात भर घूमते रहे अधिकारी कार से

रात 11 बजे से प्रशासन के अधिकारी भोपाल तिराहे पर पहुंच गए थे, इस दौरान रेत माफिया भी अपनी कार से वहां पहुंच गया था। सूत्रों के मुताबिक रेत माफिया की ओर से इशारा मिलते ही आला अधिकारी उसमें आकर बैठ गए। इसके बाद कार आगे की ओर चली गई। कु छ देर बाद कार वापस आई और उसके फिर से रेत के भरे वाहनों की जांच शुरु कर दी गई। खास बात तो यह है कि दस्तावेजों की जांच अधिकारी नहीं कर रहे था बल्कि ड्रायवर सीट पर बैठा शख्स कर रहा था।

भोपाल तिराहे के कै मरों रिकार्ड हुआ घटनाक्रम

आला अधिकारी का रेत माफिया की कार में बैठने से लेकर वहां से जाने तक की रिकार्डिंग भोपाल तिराहे पर लगे कै मरों में रिकार्ड हुआ हैं। करीब दस घंटे की रिकार्डिंग में कई जगह रेत माफिया और अधिकारी साथ में नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि कार्रवाई के दौरान राजनैतिक दल से जुड़े लोग भी मौजूद रहे। इस दौरान 16 वाहनों को पकड़ा गया है।

प्रशासन जांच में जुटा

भोपाल तिराहे पर रेत माफिया के साथ आला अधिकारी की साथ दिख रही नजदीकी ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अब प्रशासन के आला अधिकारी पुलिस कंट्रोल रुम से भोपाल तिराहे की रिकार्डिंग को देखने की तैयारी कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि यदि रेत माफिया कार में अधिकारी के बैठे होने की बात की पुष्टि होती है तो प्रशासन की ओर से बड़ी कार्रवाई उक्त अधिकारी के विरुद्ध की जा सकती है।

जानकारी जुटा रहे हैं

रेत माफिया के साथ जिस अधिकारी के बैठने की बात सामने आ रही है उसकी जानकारी जुटाई जा रही है। अभी कोई पुष्टि नहीं हो सकी है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

- के डी त्रिपाठी, एडीएम, होशंगाबाद

Posted By: Nai Dunia News Network