भितरवार। नईदुनिया न्यूज

अतिक्रमण की शिकायत को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों ने जब जांच की तो शिकायतकर्ता का ही डेढ़ बीघा सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा पाया गया। इसकी कीमत करीब 25 करोड़ रुपये आकी गई है। अधिकारियों ने सीमांकन के बाद एक ही जगह की उक्त भूमि को चि-ति कर लिया। इसके साथ ही दो दिन में अवैध कब्जा हटाने के निर्देश दिए हैं।

बताया गया है कि भितरवार नगर के एक व्यक्ति द्वारा नगर के भितरवार हरसी मुख्य सड़क मार्ग स्थित सर्वे नंबर 2469, 2481, 2482, 2483 और 2484 के पिछले हिस्से के कुछ भू-भाग पर कमलेश खटीक नामक एक गरीब असहाय युवक द्वारा घास फूस की झोपड़ी बनाकर रैन बसेरा बना लिया था। इसे लेकर नीलेश उपाध्याय पुत्र गिरजेश उपाध्याय द्वारा भितरवार तहसीलदार के यहां शिकायत दर्ज कराई गई थी। शुक्रवार को भितरवार तहसीलदार श्यामू श्रीवास्तव, नायब तहसीलदार कमल सिंह कोली, मुख्य नगरपालिका अधिकारी सतीश कुमार दुबे, राजस्व निरीक्षक बीएस बघेल, सुरेश नागर, नीलेश झा, पटवारी वीर सिंह रावत, विकास राठौर, पुलिस थाना भितरवार से सहायक उपनिरीक्षक महेश मौर्य, अतिक्रमण प्रभारी केशव सिंह यादव, सहायक अतिक्रमण प्रभारी महेश बाल्मीकि अन्य पुलिस बल एवं राजस्व अमले के साथ ही नगर परिषद के एक दर्जन से अधिक सफाई कर्मचारियों का अमला जेसीबी मशीन लेकर मौके पर पहुंचा। वहां उन्होंने शासकीय भूमि के सर्वे नंबर 2469 पर प्रभुदयाल प्रजापति पुत्र डब्बू राम प्रजापति द्वारा ईंट भट्टा बगैर अनुमति के लगाया जा रहा था। इसे जेसीबी मशीन की सहायता से हटाने की लिए तोड़फोड़ की गई। जब अतिक्रमणकर्ता ने विरोध किया तो उसके खिलाफ धारा 151 की कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया गया। इसके बाद शिकायतकर्ता की शिकायत पर जांच की गई तो शिकायतकर्ता खुद लगभग डेढ़ बीघा भूमि पर अवैध रूप से कब्जा किए हुए पाया गया। उसे अधिकारियों द्वारा चि-ति कर तीन दिवस में अतिक्रमण मुक्त करने के निर्देश दिए गए। वही शिकायतकर्ता द्वारा जिस झोपड़पट्टी वाले व्यक्ति की शिकायत की गई थी उस पर तहसीलदार ने नगर पालिका सीएमओ सतीश कुमार दुबे को आवास स्वीकृत कराने के लिए निर्देशित किया। सीमांकन उपरांत लगभग उक्त सर्वे नंबरों की 25 करा़ेड की भूमि शासकीय पाई गई। इसे चि-ति करने की कार्रवाई की गई, वही कुछ भूभाग पर हुए निर्माणों को तीन दिवस में छोड़ने के निर्देश संबंधितों को दिए हैं।

इनका कहना है।

नीलेश उपाध्याय नामक युवक द्वारा शासकीय जमीन पर अतिक्रमण करने की शिकायत की गई थी जिस पर कार्रवाई करने मौके पर पहुंचे तो वह खुद ही भूमाफिया निकला। उसे अतिक्रमण हटाने के लिए दो दिन का समय दिया गया है।

- श्यामू श्रीवास्तव, तहसीलदार, भितरवार।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags