डबरा, नईदुनिया, Kisan Andolan। पंजाब-हरियाणा से दिल्ली कूच कर रहे किसान आंदोलन के समर्थक किसानों के समर्थन में डबरा के किसान संगठन भी सामने आ गए हैं। जिसके चलते डबरा के किसानों ने एसडीएम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक ज्ञापन दिया। ज्ञापन में दिल्ली कूच कर रहे किसानों पर वाटर कैनन से पानी फेंकने और अश्रु गैस गोले फेंकने का विरोध डबरा के किसानों ने किया है। दिल्ली में संघर्ष कर रहे किसानों का डबरा के किसानों ने समर्थन करने की बात कही है। इससे पहले डबरा के किसान शहर में आंदोलन कर चुके हैं।

जिस तरह से किसान विरोधी बिल के विरोध में जहां पंजाब के किसान दिल्ली पहुंचकर विरोध कर रहे हैं तो वहीं डबरा में भी किसान बिल का विरोध डबरा अंचल के किसान करते रहे हैं। दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों पर किए गए प्रशासन द्वारा बल प्रयोग का डबरा के किसानों ने विरोध किया है किसान नेता कृष्णा देवी ने अनुविभागीय अधिकारी डबरा को किसानों के साथ मिलकर एक ज्ञापन देश के प्रधानमंत्री के नाम दिया है और किसानों पर किए जा रहे बल प्रयोग की घोर निंदा की है। कृष्णा देवी का कहना है कि इस सर्दी के मौसम में किसानों पर पानी और आंसू गैस के गोले फेंके जा रहे हैं किसान अपने हक के लिए लड़ रहे हैं।

किसानों के बढ़ते कदम नहीं रोक पाएगी सरकार

किसान नेता राज प्रताप सिंह रावत का कहना है कि किसान अपने हक के लिए लड़ रहे हैं तो सरकार अपना जोर दिखा रही है। जिस तरह से किसानों को रोक जा रहा है वो तानाशाही है। लेकिन इस समय पूरे देश के किसान एकजुट है जो अपने अधिकार के लिए लड़ रहे हैं उनके बढ़ते कदम नहीं रुकेंगे। इधर भारतीय किसान संघ के प्रांतीय पदाधिकारी मनीष शर्मा का कहना है कि किसानों को इस तरह से रोकना ठीक नहीं। देश मे अपनी बात रखने का सबको पूरा अधिकार है। सरकारों को किसानों के हित मे सोचने की जरूरत है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस