• बसों में सफर करने वालों पर चल रही बस अॉपरेटरों की मनमर्जी, निर्देशों के बाद भी अनदेखी

डबरा (नईदुनिया प्रतिनिधि) कोरोना काल शुरू होने से यातायात संचालन बंद हो गया था। लेकिन जब छूट मिली तब से बस ऑपरेटर अपनी मनमर्जी कर रहे हैं। जो किराया पहले लिया जा रहा था उससे दूना किराया अब वसूला जा रहा है। जबकि कोरोना काल को ध्यान रखते हुए प्रशासन ने बस ऑपरेटरों को टैक्स में राहत प्रदान की थी। लेकिन इस राहत के बाद बस संचालकों ने किराया तो कम नहीं किया बल्कि दोगुना कर दिया है। अब रोजाना बसों में यात्री और बस ऑपरेटरों मेंं किराए को लेकर झगड़े की िस्थति बनती रहती है। चिंतनीय बात ये है कि डबरा से ग्वालियर का जो किराया 40 रुपए ल लगता था वह 60 रुपए वसूला जा रहा है। डबरा से अगर शिवपुरी जाएंगे तो यह पहले 100 से 120 रुपए लिए जाते थे अब 200 रुपए वसूले जा रहे हैं। यही हाल दतिया जाने वाली बसों का है। डबरा से दतिया का 30 रुपए किराया लगता था लेकिन अब 50 रुपए वसूला जा रहा है। इस तरह की कई िशकायतें सामने आई तो परिवहन अधिकारियों ने बस ऑपरेटरों को बसो में रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिए थे लेकिन इन निर्देशों की पालना नहीं की गई। आपको बता दें कि डबरा बसस्टैंड से रोजाना 40 े 50 बसें होकर गुजरती हैं लेकिन इन बसों में किराया लिस्ट नजर तक नहीं आती।

बॉक्स

ऐसी मनमर्जी कि रास्ते में उतार देते हैं लोगों को

डबरा से ग्वालियर, डबरा से दतिया व डबरा से शिवपुरी तक के लिए सफर करने बाले यात्रियों को यहां बस संचालकों व कडेक्टरों की गुंडागर्दी के दबाब में सफर करना पड़ रहा है। उन्हें पहले बुलाकर बस में बिठाया जाता है और बस के चलने पर 5 से 8 किलोमीटर चलने के बाद मनमाना किराया मांगा जाता है और जब यात्री कुछ पूछते हैं तो उन्हें बीच मार्ग में उतरने को कहा जाता है। जिस मजबूरी में उन्हें किराया चुकाना पड़ता है। जबकि कोई भी बस ऑपरेटर किसी यात्री को बीच रास्ते में नहीं उतार सकता। अगर उतारता है तो उसकी िशकायत की जा सकती है। लेकिन बस आॅपरेटरों को इस तरह की शिकायतों का डर नहीं रहता।

पहले लगता था ये किराया

- डबरा से शिवपुरी---100

- डबरा से भितरबार--- 30

-डबरा से ग्वालियर--- 30

-डबरा से दतिया--- 30

अब वसूल रहे इतना

- डबरा से शिवपुरी---200

-डबरा से भितरबार--- 50

-डबरा से ग्वालियर--- 50

-डबरा से दतिया--- 50

इनका कहना

बस संचालकों को साफ निर्देशित किया गया है कि वह अपनी बसों मंे किराया सूची लगाएंगे। अगर नहीं लगा रहे हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। तय किराए से ज्यादा किराया लिया तो कार्रवाई होगी।

- रिंकू शर्मा, एआरटीओ, ग्वालियर

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस