ग्वालियर (भितरवार)। (नईदुनिया प्रतिनिधि) किसानों की धान का लाखों रुपया लेकर परिवार सहित भागे व्यापारी बलराम परिहार के घर की कुर्की कर दी गई है। इसके अलावा अन्य संपत्तियों की छानबीन भी की जा रही है। एफआइआर के बाद व्यापारी की लोकेशन अहमदाबाद में मिलने के बाद वहां गई पुलिस टीम खाली हाथ लौटी है। नए कृषि कानून के तहत प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है। एसडीएम अश्वनी कुमार रावत ने बताया कि बाजना गांव में मकान की कुर्की के अलावा अब उसकी जमीन व अन्य संपत्ति की छानबीन की जा रही है।

गौरतलब है कि बाजना गांव में रहने वाला व्यापारी बलराम परिहार 17 किसानों से करीब 40 लाख रुपए की धान खरीदी कर बिना भुगतान किए भाग गया है। इसकी शिकायत सभी किसानों ने पुलिस अधीक्षक अमित सांघी से की थी। व्यापारी पर एफआइआर के बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर संपत्ति कुर्की करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। एसडीएम रावत के निर्देश पर मंडी सचिव नवीन चंद्र पांडेय और राहुल शर्मा ने धोखाधड़ी के मामले के 15 पीड़ित किसानों के बयान लिए। दो के और होने हैं। व्यापारी की मोबाइल लोकेशन अहमदाबाद में मिली थी। इसके बाद बेलगढ़ा थाना प्रभारी राधेश्याम शर्मा आठ दिसंबर को अहमदाबाद गए थे। जहां व्यापारी की खोजबीन की गई लेकिन वह नहीं मिला। थाना प्रभारी एवं अन्य पुलिस बल सोमवार को वापस लौट आया।

इनका कहना है

लापता हुए व्यापारी के संबंध में छानबीन की जा रही है, साथ ही उसकी संपत्तियों की जानकारी एकत्रित की जा रही है, जो मिल चुकी है। उन्हें कुर्क करने की कार्रवाई की गई और शीघ्र ही उन्हें नीलाम किया जाएगा और किसानों का पैसा दिलाया जाएगा।

- अश्वनी कुमार रावत, एसडीएम, भितरवार

Posted By: Ajaykumar.rawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags