भितरवार। नईदुनिया न्यूज

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत जमीन के पट्टे दिए जाने और पोषण आहार राशि के तहत एक हजार रुपए प्रतिमाह शीघ्र दिए जाने सहित अन्य मांगों को लेकर एक दर्जन से अधिक गांवों की आदिवासी महिलाओं व पुरुषों ने बुधवार को एसडीएम कार्यालय का घेराव कर दिया। उन्होंने एकता परिषद के संभागीय समन्वयक डोंगर शर्मा के नेतृत्व में एसडीएम केके सिंह गौर को ज्ञापन सौंपा। महिलाओं ने चेतावनी दी कि अगर मांगों को शीघ्र पूरा नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

ज्ञापन में महिलाओं ने बताया कि सहरिया आदिवासी समुदाय को दिए गए पट्टे का सीमांकन कराया जाए। साथ प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत जमीन के पट्टे दिए जाएं। उन्होंने बताया कि सहरिया आदिवासी महिलाओं को पोषण आहार योजना के तहत 1 हजार रुपए प्रतिमाह देने की शासन द्वारा घोषणा करने के बाद भी भुगतान नहीं किया जा रहा है। पोषण आहार राशि का शीघ्र भुगतान किया जाए और पात्र हितग्राहियों के लिए शीघ्र वृद्धावस्था पेंशन शुरू की जाए। महिलाओं ने बताया कि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के न तो अभी तक बीपीएल कार्ड बन सके और न ही मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराया गया है। जीवन यापन के लिए हम लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए, जिससे परिवार का भरण पोषण कर सके। इसके साथ ही ग्राम खोर के रास्ते पर किए गए अतिक्रमण को हटाया जाए, जिससे हम लोग आवागमन कर सके। सहरिया आदिवासियों ने एसडीएम से मांग की कि उक्त समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराया जाए। सहरिया आदिवासियों की बात सुनकर एसडीएम ने तहसीलदार को शीघ्र आवश्यक कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। इस अवसर पर रमेशचंद्र दुबे, कुमेर सिंह, मनीष, गजेंद्र सिंह, इंदल सिंह, जनक सिंह, रामेश्वर सहित सैकड़ो आदिवासी महिला-पुरुष उपस्थित थे।