दमोह(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शासकीय पालिटेक्निक कालेज के छात्रों के साथ जिस प्रकार से कालेज प्रबंधन द्वारा लापरवाही बरती जा रही हैं उससे कालेज के छात्रों की पढ़ाई पूर्ण रूपेण चौपट हो चुकी है। कालेज की प्रभारी प्राचार्य डा. लता त्रिपाठी द्वारा कम्युनिकेशन स्किल इन इंग्लिश विषय पढ़ाया जाना है लेकिन उनके द्वारा कभी भी इस विषय ना तो पढ़ाया जाता है और ना ही इस विषय का प्रैक्टिकल कभी लैब में कराए जा रहे हैं। जिस कारण से छात्रों को इस विषय की पढ़ाई हो ही नहीं पा रही है।

वहीं दूसरी ओर लैब के लिए वर्ष 2019 में 10 लाख रुपये से 25 कम्प्यूटर खरीदे गए थे जो कि जिस हालत में खरीदे गए थे उसी हालत में एक कमरे में बंद रखे हुए हैं। इन कंप्यूटरों को आज दिनांक तक खोल कर देखा भी नहीं गया है यहां तक कि इस कारण से इनके वारंटी की समय सीमा भी अपने आप समाप्त हो चुकी है तथा वर्षा में भी कुछ सिस्टम खराब हो रहे हैं। परंतु प्राचार्य द्वारा शासन के पैसों से इस प्रकार की नियम विरुद्ध तरीके से खरीददारी तो कर ली गई परंतु इन कंप्यूटरों का उपयोग ना करके शासन के पैसों की बर्बादी की गई है। साथ ही साथ छात्र-छात्राओं को भी इस विषय के प्रैक्टिकल से वंचित रखा जा रहा है। छात्र-छात्राओं के भविष्य के साथ खुलेआम प्रभारी प्राचार्य द्वारा खिलवाड़ की जा रही है।

इस संबंध में छात्र-छात्राओं से पूछने पर उन्होंने बताया कि उन्हें आज तक कभी भी इंग्लिश की लैब में नहीं ले जाया गया है और ना ही इस लैब के बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी दी गई है। जब कंप्यूटर खरीदी के संबंध में प्रभारी प्राचार्य डा. लता त्रिपाठी से बात की तो उनका कहना था कि स्टोर इंचार्ज के पद पर पहले कृष्णा बोरसे थे जिनकी कोरोना से मौत हो गई थी। जिस कारण से उन्हें इसकी किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं है जबकि डा. त्रिपाठी वर्ष 2018 से प्राचार्य के पद पर यहां पर पदस्थ हैं। इसके बाद भी उनका इस प्रकार का जवाब देना ही उन्हें संदिग्धता के घेरे में लाता है। वहीं जब उनसे कंप्यूटर लैब के संबंध में बात की तो उनका कहना था कि इसका अभी इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है और उन्हें साफ्टवेयर के बारे में भी किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं होने की बात भी उनके द्वारा कही गई। छात्र-छात्राओं ने इस संबंध में कलेक्टर से तत्काल ही कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close