तेंदूखेड़ा/झलौन(नईदुनिया न्यूज)। जिले में अचानक डीजल की कमी आ गई हैं तेंदूखेड़ा ब्लाक के कई पंप बंद हो गये हैं और जो चल रहे है वह उतनी तादात में डीजल नही मिल रहा हैं जितने की जरूरत हैं। रविवार को डीजल की खोज में घर से निकले दो किसानों की मोटरसाइकिल को एक अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी जिसमें एक किसान की मौत हो गई जबकि दूसरा गंभीर अवस्था में घायल हो गया। घटना सागर मार्ग पर झलौन के आगे सेहरी तिराहा हरसिद्धी नाला की बताई जा रही हैं। सूचना मिलते ही डायल 100 मौके पर पहुंची और स्वस्थ केंद्र लेकर आई जहा डाक्टरो ने एक को मृत घोषित कर दिया।

ग्राम जमुनिया का किसान था मृतक : घटना के समय दो लोग मोटरसाइकिल पर सवार थे जो इमलिया चौकी क्षेत्र अंतर्गत आने वाले जमुनिया ग्राम से है और दोनो किसान हैं डीजल न मिलने से उसकी खोज करते हुये तेंदूखेड़ा आये थे यहां से डीजल लेकर वापिस जा रहे थे उसी समय सेहरी तिराहा पर यह हादसा हो गया। घायल सरताज लोधी ने बताया कि वह और उसका साथी गोरे सीग आदिवासी 45 साल किसान हैं और डीजल लेने के लिये बाईक क्रमांक क्रमांक एमपी 34 एमक्यू 4198 पर सवार होकर जमुनिया से पहले झलौन आये थे लेकिन झलौन के पंपों पर डीजल नही मिला इसलिये तेंदूखेड़ा आये यहां से दो हजार का डीजल लेकर जा रहे थे लेकिन सेहरी तिराहा से पास सामने से आ रही पिकअप वाहन ने टक्कर मार दी।

घंटों लगाई मदद की गुहार : घटना लगभग साढे बाहर बजे की बताई जा रही हैं जानकारी देने वाले ने बताया कि घटना के घंटों बाद भी गोरे सींग आदिवासी और सरताज लोधी मदद की गुहार लगते रहे लेकिन क्षेत्र में डीजल न होने के कारण मार्ग से वाहनों का आवगमन नही हुआ और बाद में सेहरी निवासी दुर्गेश यादव वहां से गुजरे तो उनको आवाज सुनी और फिर वह मौके पर पहुंचे और घटना की सूचना डायल 100 को दी गई। तेंदूखेड़ा सीबीएमओ आरआर बागरी ने घायल का उपचार किया जिसके बाद उपनिरीक्षक प्रदीप चौधरी मौके पर पहुंचे और उन्होंने मृतक का पचानमा कार्रवाई के बाद पीए कराने के बाद शव परिजनों को सौप दिया।

पंपों पर पेट्रोल न होने से वाहनों के पहिये थमे : तेंदूखेड़ा ब्लाक में 90 प्रतिशत लोग कृषि पर आधरित हैं साथ ही जो दूसरे रोजगार हैं वह भी वाहनों पर चलते है मगर कुछ दिनों से डीजल पंपों पर डीजल न होने से बड़ी समस्या बनी हुई हैं। तेंदूखेड़ा में तीन पंप हैं रविवार को केवल एक पंप पर डीजल उपलब्ध था जबकि ग्रामीण क्षेत्रों की बात करे तो समनापुर, झलौन, सांगा के डीजल पंप बंद पड़े है और डीजल की खोज में किसान इधर-उधर भटक रहे है उसी के चलते यह घटना घटित हुई हुई जिसमे गोरेसींग की जान चली गई जबकि सरताज सीग गंभीर अवस्था में घायल हो गया। यह दोनों किसान डीजल की खोज में भटक रहे थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close