दमोह(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जून का महीना खत्म होने को है लेकिन बारिश नहीं हो रही थी जिससे उमस और गर्मी से जनजीवन प्रभावित हो रहा था। मंगलवार की दोपहर से शाम तक आसमान में बादल छाए रहे और मौसम इस तरह बन गया कि बारिश होगी और शाम छह बजते ही तेज हवाओं के साथ बारिश का क्रम शुरू हो गया और करीब आधे घंटे तक झमाझम बारिश हुई जिससे सड़कें पानी से जलमग्न हो गईं और लोगों को गर्मी से राहत मिली क्योंकि बारिश न होने से उमस और गर्मी हो रही थी।

धूप भी इतनी तेज निकल रही है मानो आसमान से आग बरस रही हो और कूलर, एसी भी काम पर्याप्त ठंडक नहीं दे पा रहे लोग बारिश के इंतजार में आसमान की ओर टकटकी लगाए बैठे हैं लेकिन आसमान में बादल छाए रहते हैं और छट जाते हैं पर बारिश नहीं होती। बारिश न होने के कारण तापमान भी बढ़ता जा रहा है एक ओर जहां बारिश न होने से गर्मी से लोग परेशान हो रहे हैं वहीं दूसरी ओर अघोषित बिजली कटौती भी परेशानी का सबब बनी है दिन में सैकड़ों बार बिजली गुल होती है और यह आलम पिछले कई महीनों से बना है। बिजली गुल होने का स्पष्ट कारण अधिकारी भी नहीं बता पा रहे और इस पर रोक भी नहीं लग पा रही।

गौरतलब हो कि पहले नौ तपा के पहले दिन से बारिश शुरू हो गई थी और पांचवे तपा तक लगातार बारिश हुई जिससे लोगों ने सोचा कि प्री मानूसन आ गया है और अब पानी गिरता रहेगा उसके बाद बारिश थम गई और तेज धूप निकलने का क्रम शुरू हो गया। उसके बाद 15 जून से मानसून को दस्तक देनी थी जैसा कि मौसम विशेषज्ञ बता रहे थे और बारिश भी तय समय पर शुरू हो गई जो चार दिनों तक लगातार होती रही लेकिन उसके बाद फिर बारिश होना बंद हो गया और गर्मी और उमस का खेल शुरू हो गया। आलम यह हो गया कि जितनी गर्मी अप्रेल और मई के महीने में नहीं हुई उससे ज्यादा गर्मी इन 15 दिनों से हो रही है। आम जन मानस के साथ ही किसान वर्ग भी परेशान हो रहा है क्योंकि किसानी का काम पिछड़ रहा है एक ओर तेज गर्मी और दूसरी ओर अघोषित बिजली कटौती से लोगों पर दोहरी मार पड़ रही है।

पानी से सराबोर हुई सड़कें

मंगलवार शाम झमाझम बारिश होने से लोगों ने राहत की सांस ली है क्योंकि आषाण का महीना आधा निकल गया है और बारिश का कहीं नामोनिशान नहीं है। लोग बारिश होने का इंतजार कर रहे हैं और मंगलवार को यह इंतजार खत्म हो गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close