दमोह(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में विगत तीन दिन हुई लगातार बारिश के चलते जहां नदी-नाले उफान पर हैं वहीं अभी हाल ही में निर्मित किए जा रहे सतधरु परियोजना के डैम में भी अत्यधिक पानी की मात्रा आ जाने के चलते उसमें जो मगर हैं वह बाहर निकलने का प्रयास कर रहे हैं। इसी क्रम में बुधवार की सुबह दमोह तहसील अंतर्गत ग्राम अधरोटा के माध्यमिक स्कूल के समीप सुबह चार फीट से भी बड़ा मगर आकर बैठा हुआ था जिस पर अचानक ही ग्रामीणों की नजर पड़ी तो गांव में दहशत का माहौल बन गया क्योंकि उसके कुछ समय बाद ही स्कूल में बच्चों का आना भी शुरू हो गया था। जिस कारण से वहां पर अफरा.तफरी का माहौल हो गया। इस बात की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को लगी तो चारों ओर से उसे घेर लिया गया और इसकी जानकारी तत्काल ही जनपद सदस्य अनीता त्रिपाठी द्वारा वन विभाग के अधिकारियों को दिए जाने के बाद भी वन विभाग के अधिकारियों की लापरवाही उस समय उजागर हुई जब लगभग तीन घंटे तक कोई भी अधिकारी-कर्मचारी वहां पर नहीं पहुंचा। इसके बाद इस बात की जानकारी नईदुनिया द्वारा कलेक्टर को दिए जाने के बाद कलेक्टर एसकृष्ण चैतन्य ने तत्काल ही वन विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। जिस पर वन विभाग की टीम ग्राम अधरोटा पहुंची और मगर को काफी प्रयासों के बाद पकड़कर ले जाया गया। इसके बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली।

वन विभाग की लापरवाही आई सामने : वन विभाग की टीम द्वारा अपने वाहन से मगरमच्छ को ले जाया जा रहा था तभी रिहायशी इलाके में वह वाहन के पीछे से गिर गया जबकि वन विभाग की टीम को भनक तक नहीं लगी। एसडीओ धीरेंद्र प्रताप सिंह द्वारा टीम का कंट्रोल किया जा रहा था जब यह टीम मगरमच्छ को सिंगौरगढ़ के तालाब में छोड़ने जा रही थी तब जबेरा के पास पुरनयाऊ के बीच मगरमच्छ गिर गया और रेस्क्यू टीम को सुध ही नही रही। राहगीर ने मगरमच्छ को देखा तो वह डर गया इसके बाद ग्रामीणों की भीड़ जमा होने लगी लोगो ने तत्काल बीट गार्ड राजेंद्र चंद्रपुरिया को जानकारी दी। तब ग्रामीणों की मदद से मगरमच्छ को खेत में लगी जाली के तरफ कर दिया जिससे वह वहां डरकर बैठ गया। इसके बाद रेंजर को सूचना दी रेंजर ने टीम से संपर्क किया तो टीम को घटनास्थल बुला लिया। टीम ने पुनः रेस्क्यू कर मगरमच्छ को पकड़ा और वाहन में लेकर सिंग्रामपुर चली गई। मगरमच्छ को पकड़ने में रेस्क्यू टीम सहित बीट गार्ड राजेंद्र चंद्रपुरिया, दीपक श्रीवास्तव, रविशंकर मेहरा सहित पुरनयाऊ ग्रामीणों का सहयोग रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close