दमोह, नईदुनिया प्रतिनिधि, Damoh Crime News। शनिवार की रात एक नाबालिग स्कूली छात्रा का अपहरण का मामला सामने आया है, नाबालिग को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया है जहां वह काफी दहशत में है। हालांकि जिस तरह से बच्ची यह कहानी बता रही है वह पूरी तरह से संदिग्ध नजर आ रही है जिसकी पुलिस जांच कर रही है। जिला अस्पताल में इलाजरत 13 वर्षीय छात्रा ने बताया कि वह बांदकपुर स्टेशन के पास स्कूल में अपनी बुआ के यहां रहकर पढ़ाई करती है। शनिवार सुबह पढ़ने के लिए वह स्कूल आई हुई थी। उसी दौरान सुबह करीब 9-10 बजे एक सफेद कलर के चार पहिया वाहन में नकली दाढ़ी लगाए बाबाओं का रूप रखने वाले लोगों ने उसका मुंह बंद कर जबर्दस्ती गाड़ी में बैठा लिया और ले जाने लगे। रास्ते में तभी किसी का फोन आने पर बाबाओं का रूप धारण करने वाले लोगों ने गाड़ी को बांसा तारखेडा और पिपरिया गांव के आसपास रोका, जहां से वह भागने में सफल हो गई और किसी तरह अपने गांव पहुंची।

जहां स्वजनों को पूरी जानकारी दी, स्वजन तत्काल बच्ची को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले कर आए। बच्ची का इलाज जिला अस्पताल में जारी है। नाबालिग ने यह भी बताया कि जिस गाड़ी में उसे ले जा रहे थे उस गाड़ी में दो-तीन बच्चे बेहोशी की हालत में पड़े थे। इस मामले में एडिशनल एसपी शिव कुमार सिंह से जानकारी ली तो उन्होंने कहा कि वह घटना की जानकारी लेकर जांच करवा रहे हैं पूरा मामला संदिग्ध नजर आ रहा है।

गौरतलब हो कि इसके पहले भी दमोह में बच्चा चोर गिरोह के आने की अफवाह उड़ी थी और यह भी कहा जाता था कि कुछ लोग चार पहिया वाहन से शहर में घूम रहे हैं जो बच्चा चुराकर उसे बेच देते हैं, लेकिन इस तरह का एक भी गिरोह पुलिस को नहीं मिला ठीक उसी तरह यह मामला भी नजर आ रहा है जिसमें नाबालिग बच्ची अपने अपहरण की कहानी बता रही है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस