दमोह, नईदुनिया प्रतिनिधि। मौत जिस दिन अपनी नियति तय कर ले वह कोई न कोई बहाना लेकर आती ही है। ऐसा ही एक हादसा रविवार को जबेरा में घटित हुआ जहां एक युवक ने अपनी जीवन लीला समाप्त करने से पहले फांसी लगाने का प्रयास किया तो वह बच गया। उसे जब इलाज के लिए जबेरा स्वास्थ्य केंद्र लाया गया तो उसने वहां से दौड़ लगा दी और बाहर बस स्टैंड पर तोप लेकर जा रहे ट्राला की चपेट में आ गया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जबेरा पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर उसकी शिनाख्ती का प्रयास शुरू कर दिया है।

घटनास्थल पर ही मौत : जानकारी के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जबेरा में 108 वाहन से एक युवक को बिजोरा खमरिया गांव से इलाज के लिए भर्ती कराने लाया गया था। जैसे ही युवक को अस्पताल में अंदर लाकर नर्स ने नाम, पता पूछा तभी युवक द्वारा पानी पीने का बहाना बनाया और अस्पताल से भागकर मुख्य सड़क की ओर निकल आया। इसी दौरान मुख्य सड़क पर जबलपुर से एक ट्राला आर्मी की तोप का परिवहन कर सागर की ओर जा रहा था। जैसे ही ट्राला बस स्टैंड अस्पताल गेट के सामने से निकल रहा था तभी अचानक युवक ट्राला के पिछले पहिए की चपेट में आ गया और और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ट्राला जब दमोह की ओर जा रहा था युवक सड़क के किनारे खड़ा था। ट्राला युवक के सामने से निकल ही चुका था कि अचानक युवक ट्राला के पिछले पहिए की चपेट में आ गया। दूर खड़े लोग कुछ समझ पाते इससे पहले युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी इंदिरा सिंह तत्काल पुलिस स्टाफ के साथ घटनास्थल पर पहुंची। जहां ट्राला की चपेट में आए युवक को तत्काल सामने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के द्वारा मृतक युवक का पीएम कराया जा रहा है। युवक की पहचान अभी नहीं हो पाई है, लेकिन उसका नाम घनश्याम बताया जा रहा है। वहीं युवक के संबंध में प्रारंभिक जानकारी 108 वाहन चालक व सूत्रों से प्राप्त हो रही है कि 108 वाहन चालक को इवेंट मिला था कि एक युवक खमरिया में घायल अवस्था में पड़ा है। 108 व 100 डायल वाहन द्वारा तत्काल खमरिया

पहुंचकर युवक को 108 वाहन उसे जबेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए भेजा गया था। वहीं 108 वाहन चालक को खमरिया में स्थानीय लोगों द्वारा बताया गया था कि युवक द्वारा खेत में फांसी लगाने का प्रयास किया गया था, लेकिन वह बच गया और 108 से जबेरा लाया गया मौके पर डायल 100 पुलिस भी पहुंची थी। इसके अलावा एक और जानकारी सामने आई है जिसमें खमरिया सरपंच पुरषोत्तम लोधी व 108 वाहन के चालक ने बताया कि रास्ते में घनश्याम ने बताया था कि तेजगढ़ थाने में उसकी भाभी ने उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। हालांकि इस पूरे मामले का खुलासा मृतक की पहचान होने के बाद ही हो सकेगा। जबेरा टीआई इंदिरा सिंह ने बताया कि उनके पास सूचना आई थी कि एक युवक ट्राला की चपेट में आ गया है। वह मौके पर पहुंची और ट्राला के नीचे फसे घायल युवक को इलाज के लिए जबुरा स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई जिसका प्रयास जारी है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local