तेंदूखेड़ा। आपातकालीन समय में तत्काल मदद के लिए लाइफ लाइन कहे जाने वाले डायल 100 वाहन की सेवाएं तेजगढ़ थाने के लोगों को नहीं मिल पा रही हैं। क्योंकि दो महीने पहले यह वाहन सुधरने गया जो आज तक वापस नहीं आया। इससे एमरजेंसी के समय लोगों को समय पर पुलिस सहायता नहीं मिल पा रही। डायल 100 के मेंटेनेंस जिला प्रभारी ने बताया कि अभी 20 दिन और लगेंगे इसके बाद ही वाहन में सुधार कार्य हो पाएगा।

दरअसल तेजगढ़ थाना अंतर्गत सौ गांव आते हैं जहां के लोगों को आए दिन पुलिस की जरुरत पड़ती है। इसलिए सभी लोग थाने की जगह डायल 100 को ही सूचना देते हैं, लेकि न पिछले दो माह से डायल 100 वाहन न होने के कारण मुसीबत के समय लोगों को थाने आना पड़ रहा है। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंचती है। जब डायल 100 वाहन तो तत्काल पुलिस मौके पर पहुंचती थी। स्थानीय निवासी अनूप लोधी ने बताया कि जबसे डायल 100 वाहन सेवा शुरू हुई है आम लोगों को तत्काल मदद मिल जाती है, लेकि न तेजगढ़ थाने में वाहन के अभाव के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। लकी ठाकु र ने बताया कि डायल 100 का काम है कि सूचना मिलने पर तत्काल मौके पर पहुंचकर समस्याओं का निराकरण करना, लेकि न पिछले दो माह से वाहन न होने के कारण अनेक समस्याएं सामने आ रही है। जैसे एक्सीडेंट के समय तत्काल पुलिस मदद नहीं मिल पाती। कि सी पीड़ित को पुलिस को जरुरत पड़ती है तो पहले तेजगढ़ थाने के अंतर्गत आने वाले गांव में तत्काल डायल 100 वाहन पहुंच जाता था अब ऐसा नहीं हो रहा।

इस संबंध में तेजगढ़ थाना प्रभरी कमलेश तिवारी ने बताया कि डायल 100 वाहन 19 दिसंबर को कि सी काम से दमोह गया था। वहां से उसे खजुराहो भेजा गया, लेकि न रास्ते में कहीं एक्सीडेंट हो गया था। उसके बाद वाहन लौटकर नहीं आया। जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के साथ पुलिस भी परेशान है। क्योंकि वाहन होने से समय पर पुलिस पहुंच जाती थी। वहीं डायल 100 के जिला सुपर वाइजर नकु ल सोनी ने बताया कि वाहन खजुराहो में सुधर रहा है क्योंकि वह सड़क हादसे में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। करीब 20 दिन के बाद वाहन तेजगढ़ थाने पहुंच जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket