दमोह। जिले में कोरोना इतनी तेजी से अपने पैर फै लाएगा यह शायद कि सी ने नहीं सोचा था क्योंकि जिस समय पूरे प्रदेश और दमोह के आसपास लगे जिलों में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के निकलने का क्रम शुरू हुआ था उस दौरान जिले में एक भी कोरोना का मरीज नहीं था। इसके बाद 14 मई को तेंदूखेड़ा विकासखंड के सर्रा गांव में पहला पॉजिटिव मरीज निकला। इसके बाद एक-एक दिन के अंतर से एक, दो मरीज निकलना शुरू हुए, लेकि न फिर इसके बाद कोरोना ने जो गति पकड़ी उसके बाद आंकड़ा बढ़ता ही गया। आलम यह हुआ के अके ले एक माह के अंदर मरीज तीन गुना तेजी से बढ़े 16 अगस्त को जहां मरीजों की संख्या 426 थी वहीं 16 सितंबर को मरीज 11हजार 172 हो गए। इतनी अधिक तेजी से बढ़ रहे मरीजों को लेकर प्रशासन भी चिंतित और एलर्ट है और कि स तरह से संक्रमण को रोका जा सके इसके लिए भरसक प्रयास कि ए जा रहे हैं। वहीं लोग भीड़ के रूप में सड़कों पर निकल रहे हैं और उन्हें इस बात की परवाह ही नहीं कि अभी कोरोना संकट खत्म नहीं हुआ।

बाजार बंद को लेकर व्यापारियों के बीच नहीं बनी सहमति

लगातार तेजी से बढ़ रहे मरीजों की संख्या को लेकर जहां प्रशासन सभी प्रकार से प्रयास कर रहा है कि संक्रमण कम कि या जाए। वहीं व्यापारी भी इसमें अपनी सहभागिता निभाने तैयार हैं और बाजार बंद को लेकर आपस में मंथन चल रहा है, लेकि न व्यापारियों के जो संगठन बने हैं। उसमें बाजार बंद को लेकर अभी तक आम सहमति नहीं बन पाई। इसलिए अभी तक कोई सार्थक निर्णय नहीं लिया जा सका, हालांकि प्रशासन की ओर से साप्ताहिक बाजार बंद करने के लिए रविवार का दिन चुना है जबकि पहले यह मंगलवार को बंद रहा था।

अके ले सात दिन में ही निकल आए एक महीने के बराबर पॉजिटिव

अगस्त से लेकर सितंबर तक जो मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ उसने लोगों को चिंता में डाल दिया, लेकि न पिछले सात दिनों के अंदर ही सिर्फ 250 से अधिक मरीज पॉजिटिव निकल आए यह शायद अभी तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। जिसमें 15 सितंबर को 46 मरीज, 14 सितंबर को 11, 13 सितंबर को 25, 12 सितंबर को 73, 11 सितंबर को 49, 10 सितंबर को 50 और नौ सितंबर को 38 मरीज शामिल हैं, सात दिनों के अंदर 292 मरीज पॉजिटिव निकले हैं।

700 मरीज स्वस्थ्य होकर पहुंचे घर

जिले में जिस तेजी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है उसी तेजी से मरीजों के ठीक होने का भी आंकड़ा है जिसमें 700 मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घर चले गए। मंगलवार को ही 11 मरीजों के स्वस्थ्य होने पर उन्हे छुट्टी दी गई। आरएमओ डॉ. दिवाकर पटेल ने बताया कि डीसीएससी वार्ड दमोह से तीन मरीज, पथरिया कोविड के यर से चार, हटा से तीन और तेंदूखेंड़ा से एक मरीज स्वस्थ्य हुआ है। श्री पटेल ने सभी से अपील की है कि कोरोना से बचने सावधानियां जरूर बरतें। घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाएं और सैनिटाइजर का उपयोग करें साथ ही शारीरिक दूरी का पालन करें। संक्रमण से अपने आपको और परिवार को भी बचाएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020