तेंदूखेड़ा नईदुनिया न्यूज।

नौरादेही अभयारण्य में जंगली जानवरों का शिकार नहीं रुक पा रहा एक सप्ताह में यहां दो जंगली जानवरों का शिकार करंट लगाकर कर दिया गया। नीलगाय के बाद अब सांभर का शिकार शिकारियों के द्वारा कि या गया है। शिकारी सांभर के मांस को टुकड़ों में एकत्रित कर मुहली के समीप हिनोती गांव में इसकी बिक्री कर रहे थे। तभी इसकी सूचना माहली रेंजर को मिली और उन्होंने नौरादेही डीएफओ और रहली एसडीओ को सूचित कि या। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर तीन रेंजों के रेंजर जिनमें झापन से मोतीलाल तिवारी, सिंगपुर रेंज से महिला रेजर अधिकारी लक्ष्मी यादव और मोहली रेंजर दीपक जैन ने अपने स्टाफ के साथ शिकारियों को पकड़ लिया। रविवार को ही लकड़ी चोर को भी वन अमले ने पकड़ा है। सभी आरोपितों पर कार्‌रवाई करते हुए उनको रहली कोर्ट में पेश कि या जहां से सभी को जेल भेजा गया।

बरकोटी वीट का है मामला

सांभर का शिकार शिकारियों ने मोहली रेंज की सर्किल आं?ीखेड़ा के अंतर्गत आने वाली वीट बरकोटी में कि या था। यहां पर पहले चारों ओर से करंट वाला तार लगाया जिसमें सांभर फस गया और उनकस मौत हो गई। बाद में सांभर के शरीर को टुकड़ों में बांटकर उसके मांस को बेचने के लिए शिकारी गांव आए। जिसकी जानकारी मोहली रेंजर को लगी और उन्होंने अपने स्टाफ के साथ सभी शिकारियों को पकड़ लिया। सांभर का शिकार शनिवार की रात कि या गया था और रविवार को मांस का विक्रय कि या जा रहा था।

पट्टाधारी हैं शिकारी

जिन लोगों ने नौरादेही अभयारण्य की मोहली बीट में सांभर का शिकार कि या है वह सभी शिकारी उसी गांव के निवासी हैं और सभी शिकारियों को वन विभाग से ही नोरादेही अभयारण्य में रहने के लिए वन भूमि के पट्टे मिले हैं। सांभर के शिकार में करीब एक दर्जन शिकारी शामिल थे। हालांकि अभी वन अमले को सिर्फ चार शिकारी ही मिले हैं बाकी फरार हैं जिनकी खोजबीन जारी है।

पकड़े गए शिकारियों के संबंध में मोहली रेंजर दीपेश जैन ने बताया कि मामला शनिवार की रात का है। जिसकी सूचना रविवार की सुबह मिली थी। बाद में उन्होंने पूरी जानकारी तत्काल नौरादेही डीए?ओ नवीन गर्ग और रहली एसडीओ सेवाराम मलिक को दी। इसके बाद शिकारियों को पकड़ने के लिए अधिकारियों ने झापन, सिंगपुर और मोहली के स्टाफ की टीम गठित की और शाम को चार शिकारी पकड़े गए। जिनमें दर्जन पिता चतरु सिंह मुड़ेरी, चतरु पिता परमलाल गौंड मुड़ेरी, जयराम पिता रामचरन वसदेवा आं?ीखेड़ा, गड्ढे पिता मिठाई अहिरवार। इन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर सांभर को करेंट लगाकर उसका शिकार कि या। मांस को खाने के बाद उसे बेचते समय पकड़ा गया। शिकारियों के पास से सांभर की खाल, कु ल्हाड़ी और तीन कि लो मांस जब्त कि या गया है। यह सभी नौरादेही अभयारण्य में पट्टेधारी हैं वहीं दो अन्य लकड़ी चोरों को भी पकड़ा है। यह लोग नौरादेही से सागौन की लकड़ी अवैध रुप से काटकर ले जाते थे। आरोपितों में अनिल बासुदेव और प्रेमसिंह हैं इनके पास से लकड़ी भी बरामद की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags