- हटा के रनेह का मामला, गुरुवार रात की घटना बिजली कंपनी द्वारा निजी मजदूर से कराया जा रहा था काम।

दमोह (नईदुनिया प्रतिनिधि)। गुरुवार की रात हटा ब्लॉक के रनेह गांव में एक मजदूर की 11 केवी लाइन पर काम करते वक्त करंट लगने से मौत हो गई।सुबह हटा में स्वजनों ने बिजली कंपनी के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया और कार्रवाई की मांग करते हुए हटा में दमोह पन्ना स्टेट हाईवे पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस व प्रशासन के अधिकारी पहुंचे और उचित कार्रवाई के लिखित आश्वासन के बाद उन्हें मनाया।

मृतक मजदूर कालीचरण के भांजे भूपेंद्र ने बताया कि बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने उनके मामा को निजी तौर पर काम करने के लिए रखा था, जिस समय वह लाइन सुधार कर रहे थे उसी समय किसी ने बिजली स्टेशन से सप्लाई चालू कर दी और करंट लगने से उनकी की मौत हो गई।उन्हें लोगो ने बताया है कि करंट लगने से जब वह तड;प रहे थे। तब वहां मौजूद एक जूनियर इंजीनियर और 1 अन्य बिजली कर्मचारी वहां से भाग निकले। स्वजनों का आरोप है की करीब 2 घंटे बाद उन्हें इसकी सूचना मिली तब वह उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। भांजे भूपेंद्र सोनी ने बताया की क्षेत्र में लुहरवन रोड पर बिजली पावर हाउस है। यहां पर बिजली कंपनी के कर्मचारियों को जब भी आवश्यकता होती है वह निजी तौर पर बिजली का काम करने वाले मजदूरों को बुला लेते हैं। 11 केवी लाइन में कुछ फाल्ट हुआ था, जिसके सुधार के लिए गुरुवार शाम उनके मामा को बिजली कंपनी के जूनियर इंजीनियर प्रदीप निरंजन ने बुलाया था। वह लाइट सुधार का कार्य कर रहे थे तभी पावर हाउस से किसी ने बिजली सप्लाई चालू कर दी और उनके मामा को करंट लग गया। इस दौरान जेई निरंजन और एक गंगा राम नाम का बिजली कर्मी वहां मौजूद था लेकिन हादसे के बाद दोनों वहां से भाग निकले। जब वह उन्हें हटा स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

स्टेट हाईवे पर प्रदर्शन की सूचना मिलने के बाद हटा तहसीलदार अनिल श्रीवास्तव टीआई एचआर पांडे मौके पर पहुंचे और स्वजनों को काफी देर तक समझाया। लिखित आश्वासन के बाद वह मान गए। टीआई श्री पांडे ने बताया कि स्वजनों के आरोपों की जांच की जा रही है। संबंधित बिजली कंपनी के अधिकारियों व कर्मचारियों के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। यदि इसमें किसी तरह की लापरवाही सामने आती है, तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local