तेंदूखेड़ा, नईदुनिया न्यूज। नौरादेही अभयारण्य में कई प्रजातियों के बहूमूल्य पेड़ लगे हैं। लकड़ी की कीमत काफी अधिक है। इन पेड़ों की कटाई के पीछे वन माफिया लग चुके हैं और गिरोह बनाकर अवैध लकड़ी काट रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि इसी अभयारण्य में बाघ-बाघिन भी घूम रहे हैं। इसके बावजूद माफियाओं के अंदर डर नहीं है। एक सप्ताह के अंदर दो बार अभयारण्य में कटाई की घटना घटित हुई, लेकि न दोनों ही बार वनकर्मियों की सक्रियता के चलते वनमाफिया लकड़ी अपने साथ नहीं ले जा पाए।

सोमवार सुबह भी वनकर्मियों को जानकारी मिली कि कु छ लोग नौरादेही अभयारण्य के अंतर्गत आने वाली झापन रेंज में प्रवेश कर अवैध कटाई कर लकड़ी चोरी कर बाइक से भाग रहे थे। सूचना मिलने पर डिप्टी रेजर हरिशंकर ने वनकर्मियों के साथ बाइक पर लड़की ले जा रहे लोगों का पीछा कि या और एक बाइक सहित वह लड़की भी जब्त कर ली जिसे माफिया चोरी छिपे ले जा रहे थे।

रेंजर ओपी श्रीवास्तव ने बताया कि नौरादेही अभयारण्य में अधिकारी और वनकर्मी लगातार गस्ती कर रहे हैं। कु छ दिन पहले भी कु छ लोगों ने कटाई करने का प्रयास कि या था। सूचना मिलने पर जब वे मौके पर पहुंचे तो आरोपित वहां से भाग चुके थे। साथ ही कटी लकड़ी की जब्ती बनाई।

एक बाइक के साथ तीन सिल्ली जब्तः सोमवार सुबह नौरादेही अभयारण्य के अंतर्गत आने वाली झापन रेंज में डिप्टी रेंजर हरिशंकर ने वनकर्मियों के साथ इमलिया और बजरंग के समीप एक बाइक सहित तीन सागौन की बड़ी सिल्ली जब्त की है। डिप्टी रेंजर ने बताया कि सुबह सूचना मिली थी कि तीन बाइक सवार नौरादेही से कटाई कर लकड़ी लेकर जा रहे हैं। पीछा करने पर आरोपित दो बाइक लेकर भाग निकले।

एक बाइक और तीन सागौन की सिल्ली बजरंगगड़ के समीप पड़ी मिली जिनकी जब्ती बनाई गई है। जब्त की गई लकड़ी की कीमत पचास हजार के करीब है। जिस तरह से सोमवार को झापन रेंज के स्टाफ ने लकड़ी चोर गिरोह के अरमान को नाकामयाब कि या। उसी तरह एक सप्ताह पूर्व भी कु छ लोग नौरादेही अभयारण्य में रात्रि के समय घुसे थे। जिसकी सूचना झापन बैरियर पर ड्यूटी दे रहे लोगों ने रेंजर ओपी श्रीवास्तव को दी थी।

सूचना मिलते ही रेंजर मौके पर निकले तो लकलका बीट के समीप कु छ लोग दिखे, लेकि न जैंसे ही उन्होंने सामने से आ रहे वाहन को देखा तो सभी लोग भाग निकले। बाद में सुबह जाकर रेंजर ने निरीक्षण कि या तो एक सागौन का पेड़ काट मिला जिसकी जब्ती भी बनाई।

झापन रेंजर श्री श्रीवास्तव ने बताया कि नौरादेही अभयारण्य में सागौन के पेड़ बड़ी मात्रा में लगे रहते हैं दो बार लकड़ी चोरों ने लड़की चोरी की कोशिश की जिसको वनकर्मियों ने नाकामयाब कि या है। सोमवार सुबह भी तीन बाइक सवार लड़की चोरी करने जा रहे थे जिनको पकड़ा है। साथ ही एक बाइक के साथ तीन बड़ी सागौन की सिल्लियां जब्त की है। जिसमें डिप्टी रेंजर के साथ वनकर्मियों का काफी सहयोग रहा।

सवा करोड़ रु. खर्च कर होगा देवी अहिल्या की विरासत का जीर्णोद्धार

मध्‍यप्रदेश से मुंबई जाने वाली ट्रेनें खाली, रक्षाबंधन का भी दबाव नहीं