Damoh News: जबेरा/दमोह (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रविवार की दोपहर आचार्य उदारसागर ससंघ जबेरा की ओर से विहार करते हुए सतघटियों के पास से गुजर रहे थे। तभी एक घायल बंदर उन्हें सड़क पर दिखाई दिया। बंदर को इस तरह से घायल अवस्था में देख आचार्यश्री ससंघ वहीं रुक गए और सड़क पर ही बैठकर घायल बंदर को णमोकार मंत्र सुनाकर उसे संबोधित किया।

यह नजारा देख आचार्यश्री के साथ चल रहे सभी शिष्य भी भाव विभोर हो गए और कहने लगे कि प्रत्येक जीव में अपना हितैषी पहचानने की योग्यता होती है। इसलिए उस बंदर जीव ने भी मुनिराजों के चरणों की ओर हाथ जोड़े।

आचार्यश्री ने बंदर को उच्चगति प्राप्त करने का आशीर्वाद दिया और आगे बढ़ गए। इसलिए कहा गया है कि भारत की संस्कृति सदैव दया ही प्रधान रही है। वह हमें सनातन से देखने को मिली है। त्रेता युग में भगवान श्रीराम में जटायु के प्रति देखने को मिली, द्वापर युग में भगवान कृष्ण के अंदर और इस कलयुग में चलते-फिरते तीर्थ कहे जाने वाले इन संतों के अंदर देखने मिलती है।

आचार्यश्री ससंघ दानिताल होते हुए जबेरा पहुंचे और वहां से नोहटा की ओर बिहार कर गए । उन्हें बांसा तारखेड़ा में एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होना है। आचार्यश्री के जाते ही बंदर ने अपने प्राण छोड़ दिए।

गौरतलब हो कि सिग्रामपुर, और जबेरा जंगली क्षेत्र है और यहां बड़ी संख्या में बंदर व अन्य जंगली जानवर पाए जाते हैं। सिग्रामपुर क्षेत्र में सड़क पर सैकड़ों की संख्या में बंदर बैठे रहते हैं और दमोह जबलपुर मार्ग से निकलने वाले लोग इन बंदरों को खाने की सामग्री डालते हैं जिससे यह बंदर कई बार सड़क हादसे का शिकार भी हो जाते हैं ।

आचार्य श्री के द्वारा जिस घायल बंदर को देखा गया हो सकता है कि वह बंदर भी किसी सड़क हादसे का शिकार हो गया हो। प्रशासन और वन विभाग के अधिकारियों के द्वारा लोगों से इस बात की कई बार अपील की गई है कि आप लोग जब इस मार्ग से निकलें तो बंदरों को खाने-पीने की सामग्री सड़क पर ना डालें जिससे उनके साथ किसी भी प्रकार की घटना ना हो सके।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस