दमोह(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में लगातार अपराधों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है और अपराधी खुलेआम अपराधा घटित कर रहे हैं लेकिन पुलिस के द्वारा अपराधों पर अंकुश लगाने कोई ठोस प्रयास नहीं किए जा रहे। अपराध घटित होने के बाद पुलिस पीड़ित की रिपोर्ट भी नहीं लिखती जिससे लोग पुलिस के रवैये से भी आक्रोशित हैं। इसी तरह की घटना बुधवार की रात देहात थाना क्षेत्र के किशनगंज गांव में घटित हुई जहां खेत जा रहे पिता-पुत्र पर दर्जनों लोगों ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया और उनकी लाइसेंसी बंदूक छीन और बाइक भी आरोपित छीन कर ले गए। घायलों को स्वजन गंभीर हालत में इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आए जहां उनका इलाज चल रहा है।

जिला अस्पताल में इलाजरत घायल देवेंद्र सिंह ने बताया कि वह अपने पिता मोहन सिंह के साथ नरसिंहगढ़ से कजरेटी गांव फसल देखने के लिए जा रहा था। रास्ते में किशनगंज में आरोपित धीरा रजक अपने परिवार के लोगों के साथ वहां पहले से मौजूद था। उसने पिता-पुत्र को रास्ते में रोका और लाइसेंसी बंदूक छीनकर हमला कर दिया। देवेंद्र किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से भागा लेकिन उसके पिता के साथ आरोपितों ने बुरी तरह मारपीट कर दी जिसमें उनके दोनों पैर फैक्चर हो गए। घायल देवेंद्र ने बताया कि आरोपित का बड़ा भाई पिता के साथ रहता है इसी बात को लेकर उसके छोटे भाई धीरा ने पिता को गालियां दी थी। जिस पर विवाद हुआ था लेकिन बाद में समझौता हो गया था। बुधवार की रात आरोपितों ने अचानक हमला कर दिया वो नरसिंहगढ़ चौकी में रिपोर्ट करने गएए लेकिन वहां रिपोर्ट नहीं लिखी गई इसके बाद देहात थाना गए तो वहां भी सुनवाई नहीं हुई जिसके बाद वह इलाज के लिए जिला अस्तपाल पहुंचे। इस संबंध में देहात थाना टीआई विजय सिंह राजपूत का कहना है कि उन्हे इस तरह की घटना की कोई जानकारी नहीं है वह थाने में पता करके ही बता पाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close