तेंदूखेड़ा (नईदुनिया न्यूज)। जिले के तेंदूखेड़ा थाना अंतर्गत 13 नवंबर की रात दर्जनों यात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर खाई में जाकर पलट गई थी। जिसमें दर्जनों यात्री घायल हुए थे सभी को इलाज के लिए तेंदूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र लाया गया था, लेकिन एक बुजुर्ग को गंभीर चोट आने पर उसे जबलपुर रेफर किया गया था जहां शुक्रवार की रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस को जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पंचनामा कार्रवाई कर मर्ग कायम किया। गौरतलब हो कि धनतेरस के अगले दिन 13 नवंबर को राजकमल कंपनी की यात्री बस रात करीब नौ बजे दमोह से तेंदूखेड़ा आ रही थी। बस जैसे ही पिंड्राई और तेंदूखेड़ा के बीच पहुंची तभी तेंदूखेड़ा से तेजगढ़ की ओर जा रहा एक बाइक

सवार बस के सामने आ गया जिसे बचाने के प्रयास में चालक बस से नियंत्रण खो बैठा। ब्रक लगाने से पहिए रूक गए और नियंत्रण हटते ही बस मिट्टी की सड़क से फिसल कर सड़क छोड़ कर करीब 15 फीट गहरी खाई में जाकर पलट गई। घटना के समय बस में नौ यात्री सवार थे जिनकी चींख, पुकार सुनकर आसपास के ग्रामीण एकित्रत हुए और पुलिस को सूचना दी। तेंदूखेड़ा टीआई संधीर चौधरी मौके पर पहुंचे और बस में फंसे घायलों को एक-एक कर बाहर निकाला और इलाज के लिए तेंदूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए। इन घायलों में तेंदूखेड़ा के वार्ड क्रमांक 10 निवासी जमना (60) पुत्र पूरन केवट भी था जिसे सीने और कमर में ज्यादा चोट आने पर जबलपुर रेफर किया गया था जहां शुक्रवार को उसने दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर तेंदूखेड़ा थाने के एएसआई जेपी पटेरिया, प्रधान आरक्षक फागुलाल मृतक के घर पहुंचे और पंचनामा कार्रवाई कर मामले को जांच में लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस