कटनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

ढीमरखेड़ा विकासखंड की हरदी और गाढ़ा इटवा में स्वीकृत मुख्यमंत्री नलजल योजना का कार्य समयावधि और अनुबंध के अनुसार पूर्ण नहीं करने पर संबंधित ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट करने तथा वसूली की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। कार्यपालन यंत्री पीएचई ने बताया कि ढीमरखेड़ा में 61 लाख 95 हजार रुपये की लागत की नलजल योजना ग्राम हरदी और 62 लाख 5 हजार रुपये की लागत की योजना गाढ़ा इटवा में जनवरी 2019 माह में स्वीकृत कर कार्यादेश जारी किए गए हैं।

संबंधित ठेकेदार द्वारा अनुबंध की अवधि 6 माह के बाद अब तक 20 प्रतिशत ही काम किया गया है। ठेकेदार मोहनदयाल एंड संस द्वारा योजना के कार्य में रुचि नहीं ली जा रही है। कलेक्टर ने संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध वसूली और ब्लैकलिस्टेड करने की कार्रवाई के निर्देश दिए।

नई 25 स्वीकृत मुख्यमंत्री नलजल योजनाओं में से 19 पूर्ण

कार्यपालन यंत्री ने बताया कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वीकृत 25 मुख्यमंत्री ग्राम नलजल योजनाओं में से 19 नलजल योजनाएं पूर्ण कर ग्रामीणों को घर-घर नल कनेक्शन के माध्यम से पेयजल दिया जाना शुरू कर दिया है। 6 नलजल योजनाओं का कार्य प्रगतिरत है। इनमें 4 नलजल योजना पिपरौध, कूड़ा, निगहरा, अमेहटा एक हफ्ते में पूर्ण होकर चालू हो जाएगी। ढीमरखेड़ा की हरदी और गाढ़ा इटवा की नलजल योजना का कार्य अभी 20 प्रतिशत ही पूर्ण हुआ है।

कार्य प्रगति पर

कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी ने बताया कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की स्वीकृति मुख्यमंत्री नलजल योजनाओं का कार्य पूर्ण कर जल प्रदान प्रारंभ किया गया है। उनमें सिंघनपुरी, परसवारा, पौंड़ी, मझगवां, टिकरवारा, जमुआनीकला, घुड़हर, सुड्डी, बरेहटा, पाली, लिंगरी, छिंदहाई पिपरिया की दो, टीकर, बम्हौरी, सिमरिया, पड़खुरी, सिंदुरसी, सिमराड़ी नलजल योजना शामिल हैं। इसके अलावा नवीन जल आवर्धन व जनभागीदारी से जिले में अन्य 7 नलजल योजनाओं का कार्य प्रगतिरत है। जिनमें ढीमरखेड़ा की गोपालपुर, घुघरी, मुहास, उमरियापान, देवरी मंगेला और बड़वारा की मझगवां नलजल योजना का कार्य प्रगति पर है।

ये हैं आकड़े

कलेक्टर की दी गई जानकारी में कार्यपालन यंत्री ईएस बघेल ने बताया कि जिले में कुल 10419 हैंडपंप हैं। इनमें 10 हजार 80 चालू और 339 विभिन्ना कारणों से बंद हैं। इनमें सुधार योग्य 76 हैंडपंप हैं। जिन्हें तीन दिवस में सुधार कर दिया जाएगा। शेष 105 भरे पटे, 23 लाइन गिरी और जलस्तर कम होने से 104 और 31 हैंडपंप सूखा होने से बंद है। जिले में कुल 291 नलजल योजना स्थापित हैं। इनमें से 27 चालू हैं। विभिन्ना कारणों से बंद 14 नलजल योजना में 7 स्रोत के कारण, 3 जीर्णशीर्ण, पाइप और विद्युत कनेक्शन से 1-1 तथा 2 नलजल योजना बगदरा और बम्हौरी पंचायत द्वारा नहीं चलाए जाने से बंद हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस