दमोह, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले के सगोनी वन परिक्षेत्र के कुम्हारी सहायक परिक्षेत्र के पड़री गांव में मिले तेंदुए ने वापस आकर चौकीदार प्रताप सिंह ठाकुर पर हमला कर दिया इसी दौरान चौकीदार को बचाने के दौरान तेंदुए की मौत हो गई। हालांकि वन विभाग के अधिकारी इसे छिपाने में लगे रहे लेकिन रात में तेंदुए की मौत की पुष्टि हो गई।

तेंदुआ एक व्यक्ति के घर में मवेशी बांधने वाले स्थान पर जाकर छिप गया। लोगों के द्वारा हल्ला मचाने पर पास में गेहूं की बोवनी कर रहे एक किसान को तेंदुए ने खदेड़ दिया। गनीमत रही कि गांव के दूसरी तरफ से लोगों ने चिल्लाना शुरू किया, जिससे किसान वहां से भागने में कामयाब हो गया। हल्ला होने पर तेंदुए ने सड़क पार की और दूसरी जगह जाकर खेत पर बैठ गया। करीब 40 मिनट तक तेंदुआ यहां पर बैठा रहा है और इसके बाद जंगल में गुम हो गया है। खबर मिलने पर पुलिस और वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची है।

ग्रामीण खुब्बी लाल अहिरवाल ने बताया कि वह खेत में गेहूं की बोवनी कर रहा था। तभी पप्पू ठाकुर के मवेशी बांधने वाले स्थान से तेंदुआ निकला और उसकी ओर झपटा। इसी बीच प्रताप सिंह ठाकुर ने पीछे से उन्हें चिल्लाकर आगाह किया, तो वह भागने में सफल हो गया। इसके बाद लोगों ने जोर-जोर से चिल्लाना शुरू किया, तो तेंदुआ सड़क पार करके दूसरी ओर चला गया है। फिलहाल तेंदुआ आस पास ही है। इसके बाद वन विभाग और पुलिस की टीम को खबर की गई है। दोनों ही विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। रेस्क्यू किया जा रहा है। प्रताप सिंह ठाकुर ने बताया कि यदि पीछे से नहीं चिल्लाते तो तेंदुआ खुब्बी लाल पर हमला कर देता। शाम को तेंदुए ने चौकीदार पर हमला कर दिया जिसे ग्रामीणों ने बचाने के प्रयास किया और तेंदुए पर भी हमला किया गया जिसके बाद उसकी मौत हो गई।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close