दमोह। विधायक राहुल सिंह के इस्तीफा देने के मामले को लेकर जिले के कांग्रेसी हैरत में हैं, वहीं जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय टंडन का कहना है कि राहुल सिंह हमेशा उनसे कहते थे कि वह अंगद के पैर की तरह कांग्रेस में जमे रहेंगे लेकिन अब वह कांग्रेस छोड़ चुके हैं। यदि उन्हें पता होता कि राहुल सिंह कांग्रेस छोड़ने वाले हैं और उनका अंगद का पैर हिलने वाला है तो वह उस पर को भी पकड़ लेते, लेकिन उन्हें पता ही नहीं चला। टंडन ने बताया कि बीते कुछ माह से राहुल सिंह उनसे दूरी बनाने लगे थे। पार्टी के कार्यक्रमों में भी कम समय देते थे। जब उनके चचेरे भाई बड़ा मलहरा विधायक प्रदुम सिंह भाजपा में शामिल हुए तो उन्हें लगता है कि उसी समय इनके बीच कुछ बातचीत हुई होगी और यह उसी का नतीजा है कि आज राहुल सिंह ने कांग्रेस को छोड़ दिया है।

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने के कारण पर टंडन का कहना है कि केवल एक मात्र कारण हो सकता है वह है पैसा। भाजपा का काम है करोड़ों रुपए देकर विधायकों को खरीदना और यह क्रम उनका जारी है, ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है ताकि उपचुनाव में कांग्रेस की छवि को खराब किया जा सके और भाजपा बढ़त ले सके।

कहने के बाद भी नहीं किया था प्रदुम का विरोध

टंडन ने बताया कि कुछ दिन पहले ही कांग्रेस पार्टी की ओर से राहुल सिंह और वह बड़ा मलहरा में कांग्रेस प्रत्याशी के चुनाव प्रचार में गए थे। वहां पर उन्होंने राहुल सिंह से कहा था कि वह प्रद्युम्न सिंह को लेकर उसके भाजपा में बेचे जाने के मामले को उजागर करते हुए अपना भाषण दें, लेकिन राहुल ने ऐसा नहीं किया था। बाद में जब उन्होंने राहुल से पूछा कि उन्होंने उस बात का जिक्र क्यों नहीं किया तो राहुल ने कहा था कि वह भूल गए।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस