दमोह(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोतवाली थाना अंतर्गत चोरी होने की घटनाये कम होने का नाम नहीं ले रही हैं आये दिन कहीं ना कहीं किसी ना किसी प्रकार से चोरी की घटनाएं घटित होती रहती हैं, लेकिन कोतवाली पुलिस का इन चोरी की घटनाओं पर किसी भी प्रकार का कोई अंकुश नहीं है। इसी क्रम में 15 दिन के अंदर दमोह के बस स्टैंड से बस में से दो बार लाखों रुपए की चोरी हो जाने के चलते पुलिस द्वारा आवेदन लेकर जांच किए जाने की बात की जा रही है अभी तक किसी भी प्रकार का कोई चोर नहीं पकड़ा गया है।

प्राप्त जानकारी अनुसार दमोह जिले के मगरोन निवासी रजनी प्रजापति 16 जून को जबलपुर बुंदेलखंड बस से गई थी कि उसी दौरान सामान रखने के नाम पर क्लीनर बनकर एक अज्ञात युवक द्वारा उनका बैग चोरी कर लिया गया था। जिसमें हाफ करधन, सोने का लाकेट और 20 हजार रुपए नगद थे लेकिन इस मामले में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं लगी थी कि आज एक जुलाई को जब वह जबलपुर से मगरोन जाने के लिए लौट कर आ रही थी कि उसी बीच उन्होंने बुंदेलखंड बस के पास बस स्टैंड पर उक्त युवक को देखा और उसे पकड़ने के लिए गए तो वह भाग खड़ा हुआ। इसके पूर्व ही उक्त युवक ने बुंदेलखंड बस में ही क्लीनर बनकर दिल्ली निवासी आशीष जैन के बैग में से सोने के जेवर, पायल और 20 हजार रुपए नगद भी चोरी कर लिए और वह भाग गया। इस बात की जानकारी तत्काल ही पुलिस को दिए जाने के बाद कोतवाली में लगभग छह घंटे तक पुलिस द्वारा बस को खड़े रखा गया लेकिन पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार की ना तो चोरी की रिपोर्ट लिखी गई और ना ही चोर को तलाशने के कोई प्रयास किए गए बल्कि छह घंटे तक बस में इस भीषण गर्मी में यात्री लगातार परेशान होते रहे। बस में लगे हुए सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से भी अज्ञात चोर की तलाश किए जाने की बात पुलिस कर रही है लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार की कोई चोरी का मामला दर्ज ना करते हुए आवेदन लेकर जांच की जा रही है। उल्लेखनीय है कि कोतवाली थानांतर्गत पिछले एक वर्ष में दमोह शहर में लगभग 100 से अधिक चोरियां हो चुकी हैं लेकिन पुलिस उन्हें खोजने में असफल साबित हो रही है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close