रीवा। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने जिले के 11 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिए हैं।

जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार नगर परिषद सिरमौर के वार्ड क्रमांक 11 में गौरव पाण्डेय का घर, तहसील नईगढ़ी के ग्राम भीर में सोनू नामदेव का घर, इसी तहसील के ग्राम बरहा में यज्ञनारायण द्विवेदी का घर, ग्राम परसिया में श्यामलाल साकेत का घर, ग्राम मडना में बैजनाथ केवट का घर तथा ग्राम मुडिला में शोभनाथ द्विवेदी के घर से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिए गए हैं।

इसी प्रकार तहसील नईगढ़ी के ही ग्राम करह में दीनदयाल साकेत का घर, तहसील मऊगंज के वार्ड क्रमांक 3 में सरोजवती द्विवेदी का घर, नगर परिषद सिरमौर के वार्ड क्रमांक 3 में सावित्री साकेत का घर, नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 8 में आरबी सिंह का घर तथा तहसील सिरमौर के ग्राम मरैला में विपिन सिंह के घर से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिए गए हैं।

कलेक्टर ने इन स्थानों को अंतिम पुष्ट मामला मिलने के बाद लगातार दो सप्ताह तक लैब द्वारा कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला नही मिलने पर 20 एवं 21 नवम्बर की मध्य रात्रि से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिए हैं। यह आदेश संबंधित क्षेत्र के इंसिडेंट कमाण्डर एवं एसडीएम तथा खण्ड चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर जारी किए गए हैं।

अभी मास्क ही है वैक्सीन : कोरोना संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है और जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक मास्क को ही वैक्सीन समझकर उसका उपयोग करना बेहद जरूरी है। नईदुनिया ने एक बार फिर मास्क ही वैक्सीन अभियान शुरू किया है और लोगों से अपील की है कि वह घर से बाहर रहने पर मास्क का उपयोग करें। जिले के मुखिया कलेक्टर तरुण राठी भी लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं कि वे वैश्विक महामारी कोविड-19 के नियंत्रण से जुड़े नियमों का पालन करें, लेकिन काफी लोग लापरवाही बरत रहे हैं, जो उनके व उनके परिवार के साथ इस जिले के लिए भी घातक हो सकते हैं।

रविवार को शहर में मास्क लगाकर घूमने वालों का प्रतिशत मास्क न लगाने वालों से अधिक था। बिना मास्क के घूमने वालों को देखकर ऐसा लग रहा था, जैसे उन्हें कोई संक्रमण नुकसान नहीं पहुंचा सकता। जबकि सच्चाई ये है कि यदि कोरोना संक्रमण अपने प्रभाव में आ गया तो लोगों की जान जोखिम में आ सकती है। ठंड के मौसम में इस संक्रमण के बढ़ने की संभावना है और दिल्ली राज्य इसका एक उदाहरण भी हमारे सामने हैं, जहां अचानक ही संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ गई है। यदि हम लापरवाही करेंगे तो हमारे सामने भी ऐसा ही संकट खड़ा हो सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस