दमोह। शुक्रवार को कलेक्टर एसकृष्ण चैतन्य ने शुक्रवार को राजस्व विभाग के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों की बैठक ली। जिसमें शासन की प्राथमिकता के अनुसार सीएम भू-आवास अधिकार पत्रिका, पीएम किसान या सीएम किसान के काम, आरसीएस के प्रकरणो के बारे में विस्तृत चर्चा कर अहम दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा शासन की प्राथमिकता के अनुसार जितने भी काम करने हैं उनको समय-सीमा में पूर्ण किया जाए।

श्री चैतन्य ने कहा पिछले 8 महीने में लगातार रिवेन्यू के मामले देखते हैं उसमें निराकरण की बहुत अच्छी वृद्धि हुई है। दमोह जिला सामान्य रूप से अच्छे जिलों में माना जाता है। हमारा प्रयास यही है कि दमोह जिला सबसे अच्छे जिलों में गिना जाए और जितनी भी शासन की योजनाओं का लाभ लोगों को मिलना चाहिए वह समय से मिले यह प्रयास करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए। बैठक में एडीशनल कलेक्टर नाथूराम गौड़, एसडीएम अंजलि द्विवेदी, एसडीएम अविनाश रावत, एसडीएम अभिषेक सिंह ठाकुर, एसडीएम गगन बिसेन, डिप्टी कलेक्टर भव्या त्रिपाठी और डिप्टी कलेक्टर अदिति यादव सहित तहसीलदार, नायब तहसीलदार और भू-अभिलेख विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों की स्मृति में मनाया जाएगा शहीद दिवस

दमोह। प्रत्येक वर्ष 30 जनवरी को सुबह 11 बजे सारे देश में उन शहीदों की स्मृति में जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में अपने जीवन का बलिदान दिया है दो मिनिट का मौन रखा जाता है और कार्य व गतिविधियां रोक दी जाती है। इस दिन को व्यापक रूप से आम जनता की भागीदारी से मनाए जाने के लिये स्थायी अनुदेश निर्धारित किए गए हैं। इनमे हर वर्ष 30 जनवरी को सुबह 11 बजे प्रदेश भर में कार्य और अन्य गतिविधियां रोक दी जाना चाहिए व दो मिनट का मौन रखा जाना चाहिए। दो मिनट का मौन शुरू होने व समाप्त होने की सूचना जहां कहीं व्यावहारिक हो सायरन बजाकर या सेना की तोप दागकर दी जाना चाहिए। दो मिनट का मौन शुरू होने की सूचना 10.59 बजे से 11 बजे तक सायरन बजाकर दी जानी चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local